बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Big Breaking – मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार 2 या 3 सितंबर को, रूडी समेत 6 मंत्रियों ने सौंपे इस्तीफे, आठ की होनी है छुट्टी

161

पटना Live डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीसरी बार अपनी कैबिनेट का विस्तार करने जा रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि संगठन से लेकर मंत्रालयों में कई पद रिक्त चल रहे हैं। माना जा रहा है प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की उपलब्धता मिलते ही मंत्रिमंडल का विस्तार करेंगे। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी अपने मंत्रिमंडल का विस्तार 2 सितंबर की शाम या 3 सितंबर के सुबह कर सकते हैं। बताया जा रहा है कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सरकार में होने वाले फेरबदल को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। शाह ने गुरूवार को सरकार से विदा होने वाले करीब 8 मंत्रियों को अलग-अलग समय पर बुलाकर उनसे मुलाकात की है।

                    उधर,एआईडीएमके कोटे से सरकार में शामिल होने वाले एम थंबीदुरई ने भी शाह से मुलाकात की है। एआईडीएमके की ओर से सरकार में शामिल होने वाले नेताओं में दूसरा नाम वी मैत्रेयन का है।                                              सूत्र बताते हैं कि मोदी सरकार के करीब आधा दर्जन मंत्रियों उमा भारती, कलराज मिश्र, राजीव प्रताप रूडी ,निर्मला सितारमन और गिरिराज सिंह सरीखे मंत्रियों ने अपने इस्तीफे संगठन महामंत्री राम लाल को सौंप दिए हैं। हालांकि महेंद्र पांडे के इस्तीफे की खबर को औपचारिक भी कर दिया गया है। बाकी लोगों के इस्तीफे की प्रक्रिया को अभी पार्टी ने गोपनीय रखा है। इस्तीफा देने वाली एक मंत्री ने बताया कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने सरकार से बाहर होने वाले मंत्रियों को अलग-अलग मिलने के लिए बुलाया था। शाह ने इस्तीफा देने वाले एक मंत्री से कहा कि आप मंत्रीपद से इस्तीफा दे दिजिए। इसपर उक्त मंत्री ने कहा कि कब देना है। इसके बाद शाह ने बगल में बैठे संगठन महामंत्री राम लाल से पूछा कब इस्तीफा लेना है। राम लाल ने कहा कि 1 घंटे के अंदर दे दिजिए। उक्त मंत्री ने तत्काल इस्तीफा लिखते हुए संगठन महामंत्री को सौंप दिया। शाह और राम लाल की ऐसी ही चर्चा करीब उन सभी मंत्रियों से हुई जिनसे इस्तीफा मांगा गया है।

जेडीयू को एक कैबिनेट और एक राज्य मंत्री पद

हाल ही में नीतीश कुमार ने राजद और कांग्रेस से नाता तोड़कर बिहार में बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बना ली और पार्टी का विलय भी कर दिया है। ऐसे में माना जा रहा कि नीतीश कुमार की पार्टी के नेताओं को पीएम मोदी की कैबिनेट में जगह मिल सकती है। सूत्रोॆ को तो यहा तक कहना है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी नीतीश कुमार को डिप्टी पीएम पद की पेशकश भी कर सकते हैं। जेडीयू कोटे से 1 कैबिनेट और 1 राज्य़मंत्री बनाया जा सकता है।

एआईएडीएमके को भी मिलेगी जगह

एआईडीएमके कोटे से सरकार में शामिल होने वाले एम थंबीदुरई ने भी शाह से मुलाकात की है। एआईडीएमके की ओर से सरकार में शामिल होने वाले नेताओं में दूसरा नाम वी मैत्रेयन का है। एआईडीएमके के प्रतिनिधि मंडल ने केंद्र सरकार के कई मंत्रियों से हाल ही में मुलाकात की है ऐसे में माना जा रहा है कि सरकार विस्तार में तमिलनाडु को भी जगह मिलेगी

Comments are closed.