बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

छठ के दौरान बिहार में डूबने से 35 लोगों की मौत

166

पटना Live डेस्क। कल उदयीमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ महापर्व संपन्न हुआ। लेकिन इस साल कई घरों में इस महापर्व के दिन मातम छा गया। बिहार में छठ के दिन डूबने से करीब 35 लोगों की मौत हो गई। इसके अलावा और भी कई लोग अभी भी लापता बताये जा रहे हैं।
मरने वालों में सासाराम के दो, बेगूसराय के तीन, सारण के दो, गया के दो और सीवान, बिहारशरीफ-बक्सर के एक-एक लोग शामिल है। इधर उत्तर बिहार में नौ लोगों की डूबने से जान चली गई। समस्तीपुर में चार लोग डूबे जिनमें तीन ने दम तोड़ दिया वहीं बेतिया में पांच लोग डूबे और एक की जान चली गई। वहीं कोसी, सीमांचल और पूर्वी बिहार में छठ के दौरान बुधवार और गुरुवार को डूबने से 14 अधिक लोगों की जान चली गई। मरने वालों में सहरसा के चार, खगड़िया के चार, सुपौल और लखीसराय के दो-दो, मधेपुरा, पूर्णिया व भागलपुर में एक-एक व्यक्ति शामिल हैं।
इनमें से कई जिलों में लोगों ने मौत के जिम्मेदार प्रशासन को ठहराते हुए जबरदस्त बवाल काटा। बेगूसराय में लोगों ने दो गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। इसके अलावा एसडीपीओ और फायर ब्रिगेड की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। भीड़ ने पुलिस पर रोड़ेबाजी भी की। बेगूसराय के अलावा भी और कई जिलों में लोगों का गुस्सा प्रशासन पर फूटा और उन्होंने खूब बवाल काटा। महापर्व के दिन अपनों को खो चुके सभी परिवारों में मातम पसरा हुआ है।

Comments are closed.