बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

‘अंतरराष्ट्रीय योग दिवस’ बना राजनीति का नया मुद्दा, एक दूसरे से भिड़ते दिखें बिहार के नेता

152

पटना Live डेस्क। 21 जून, अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद पटना के गांधी मैदान में योग करते नज़र आयें। उनका योगा अभ्यास में साथ देने बिहार के भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय, भाजपा नेता सुशील मोदी, प्रेम कुमार भी पहुंचे। बता दें कि हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के दिन पटना स्थित गाँधी मैदान में सुबह 6 बजे से योग शिविर का आयोजन होता है, इस साल भी योग कार्यक्रम शांतिपूर्वक शुरू किया गया। गाँधी मैदान के अलावा बिहार के दूसरे क्षेत्रों में भी बिहार दिवस पर मंत्रियों को योग करते देखा गया। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी योग करने को बढ़ावा देने के लिए वैशाली जिले के हाजीपुर केअक्षयवट राय कॉलेज में पहुंचे।

योग दिवस मनाने के साथ साथ इन नेताओं ने दूसरे पार्टी पर ताना कसने के मौके का भी भरपूर प्रयोग किया। रविशंकर प्रसाद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर वार करते हुए कहा कि,”योग दिवस का बहिष्कार कर पूरे देश में नितीश कुमार न गलत संदेश दिया है। हर जगह वह कहते फिरते हैं कि वो योग करते हैं, तो फिर योग दिवस पर सबके साथ योग करने नहीं आकर क्या दर्शाना चाहते थे ? और अगर वो थोड़ी देर योग करने लोगो के बिच आ ही जाते तो हर्ज ही क्या था ?” नित्यानंद राय भी रविशंकर प्रसाद का सहयोग करते दिखें और उन्होंने भी कमेंट करते हुए कहा, “बिहार की भूमि से योग को पहचान मिली है, पूरी दुनिया के लोग उसके बाद योग से परिचित हुए और देखिये आज बिहार के ही मुख्यमंत्री योग दिवस का बहिष्कार कर रहे हैं।” पासवान ने भी हाजीपुर में आयोजित योग शिविर में नीतीश कुमार को लपेटे में लेते हुए कहा, ” हर स्त्री-पुरुष योग करता है और सबको करना भी चाहिए। योग किसी सरकार का नहीं है। इसलिए योग ने नाम पर राजनीति बिल्कुल नहीं होनी चाहिए लेकिन बिहार सरकार योग दिवस का बहिष्कार कर के राजनीति कर रही है।”

जेडीयू की तरफ से नीतीश कुमार ने जवाब में कहा कि बीजेपी की सरकार पहले पूरे देश में शराबबंदी करवाएं तो पूरा बिहार सरकार मिलकर सबके समक्ष योग करेंगे। देखना दिलचस्प है कि योग की आड़ में कब तक राजनीति जारी रहती है।

Comments are closed.