ट्वटिर के जरिए सुशील मोदी ने जेडीयू पर दागे सवाल, पूछा क्या हुआ जीरो टॉलरेंस नीति का?

पटना Live डेस्क. सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की वन टू वन मुलाकात को लेकर बीजेपी ने जेडीयू पर निशाना साधा है. सुशील मोदी ने एक ट्विट के जरिए नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए लिखा कि, ‘भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात कर जेडीयू ने करोंड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति मामले में तेजस्वी यादव से बिंदुवार और तथ्यात्मक जवाब मांगने वाले ताबड़तोड़ बयान दिए. अब कहा जा रहा है कि ना सीएम तेजस्वी यादव से इस्तीफा मांगा और ना इसके लिए समय सीमा तय की’. बीजेपी नेता ने लिखा कि, ‘जिस पार्टी ने लाठी में तेल पिलावन रैली की,नोटबंदी का विरोध किया,दलित समुदाय के रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति बनने की राह में रोड़े अटकाने की कोशिश की और जिसके मंत्रियों ने हमेशा केंद्र सरकार से टकराव का रुख अपनाया,उसके नेता सकारात्मक राजनीति की बात कर रहे हैं.’

दरअसल सीबीआई की छापेमारी और तेजस्वी यादव के खिलाफ मुकदमे के बाद राजद और जेडीयू के बीच तल्खी काफी बढ़ गई थी. दोनों पार्टियों की तरफ से इस मसले पर खूब बयानबाजी भी हुई.  जेडीयू जहां नीतीश कुमार की छवि से किसी तरह के समझौते की बात से साफ इनकार कर रही थी वहीं राजद ने भी तेजस्वी यादव के इस्तीफे को लेकर साफ मना कर दिया था. लेकिन मंगलवार शाम को कैबिनेट बैठक के बाद नीतश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच हुई बैठक के बाद इस मामले पर विराम लगता दिख रहा है. माना जा रहा है कि इस बैठक में तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर कोई बात नहीं हुई. तेजस्वी यादव पर इस्तीफे के दबाव के बीच यह मीटिंग बेहद अहम माना जा रही थी. दिलचस्प बात यह है कि राजधानी पटना में जब नीतीश ने अपनी कैबिनेट की बैठक खत्म की, उसके बाद उनकी तेजस्वी के साथ यह बैठक बंद कमरे में की.