एके 47 की मैगजीन एवं हथियारों के साथ बद्री ओझा गिरफ़्तार साथ ही असलहों के साथ कई शार्प शूटर भी हुए गिरफ्तार

70

मनोज़ कुमार, ब्यूरो कॉर्डिनेटर

पटना Live डेस्क। मुजफ्फरपुर एसटीएफ और पुलिस की कार्रवाई में कई शातिर अपराधी गिरफ्तार हुए।गिरफ्तार अपराधियों में सुभाष ठाकुर (मधुबन ), विकास कुमार, रंजीत ठाकुर, अंकित कुमार,आशुतोष प्रकाश (मुसहरी) बद्री ओझा,गोपाल कुमार, आलोक तिवारी (मिठनपुरा) , राहुल, कुंदन, वीरेंद्र मिश्रा ( कुढ़नी ) के नाम शामिल हैं।
बता दें कि 6 अप्रैल को मिठनपुरा थानान्तर्गत अतुल शाही की हत्या हुई थी जिसमें अंजनी ठाकुर और उनके गुर्गों के नाम सामने आये थे। डीएसपी मुत्तफिक अहमद, आशीष आनंद के साथ टीम में शामिल इन्स्पेक्टर अमित कुमार, उपेन्द्र कुमार, विजय कुमार, धनञ्जय कुमार, मदन कुमार सिंह ने घेराबंदी करते हुए बचे हुए अपराधियों को असलहों के साथ गिरफ्तार किया।
एसएसपी विवेक कुमार की इस मुहिम में सबसे बड़ी पकड़ बद्री ओझा के तौर पर हुई है। इस कुख्यात को दो दशक पुर्व मुजफ्फरपुर मे जरायम की दुनिया का बेताज बादशाह माना जाता था।

इस बाबत एसएसपी ने की प्रेस कांफ्रेंस मे जानकारी देते हुए बताया कि मुजफ्फरपुर में लगातार एके 47 से हुए हत्या और रंगदारी के अभियुक्त अंजनी ठाकुर को संरक्षण देने के आरोप में बद्री ओझा की गिरफ्तारी की गयी है। विगत दिनों जिला पुलिस और एसटीएफ की संयुक्त कार्रवाई में अंजनी के दो शूटर सुभाष ठाकुर और अंकित कुमार को चण्डीगढ़ से गिरफ्तार किया गया। दोनों को रिमांड पर लेने और पूछताछ के बाद पुलिस को दोनो शुटरों ने बहुत सी जानकारी दी थी जिसके आधार पर यह गिरफ्तारी की गयी। बद्री ओझा के घर से पुलिस को 7पॉइंट 6 एम एम की दो पिस्टल ,9 एम एम की एक पिस्टल ,दो देसी कट्टा ,एके 47 का मैगजीन ,47 का 30 गोली ,7 . 6 का 34 गोली ,9 एम एम का 4 गोली,सैमसंग मोबाइल और एक 1 काला बैग मिला है। पुलिस जल्द ही अंजनी को भी गिरफ्तार करने में सफल होगी।