शराब माफियाओं के खिलाफ चलेगा बड़ा अभियान बोले जोनल आईजी सुशील मान सिंह खोपड़े

पटना Live डेस्क। सूबे में पूर्ण शराबबन्दी लागू होने के बावजूद शराब माफ़िया द्वारा मोटे मुनाफे ख़ातिर लगातार शराब की तस्करी जारी है। इसी पर लगाम लगाने ख़ातिर शराब माफियाओं के खिलाफ बड़ा अभियान चलेगा। बार्डर चेकपोस्ट पर चौकसी बढ़ाई जाएगी। शराब पीने से लेकर तस्करी करने वालों पर सख्ती करने की तैयारी की गई है। शुक्रवार को जोनल आईजी ने भागलपुर रेंज के डीआईजी व एसएसपी के अलावा बांका, नवगछिया और खगड़िया एसपी के साथ शराबबंदी की समीक्षा की। 26 जुलाई तक जोन के सभी एसपी से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी गई है।

जोनल आईजी सुशील मान सिंह खोपड़े ने बताया कि गुरुवार को मुंगेर रेंज के एसपी के साथ शराबबंदी कानून को प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए समीक्षा की गई थी। 28 जुलाई को मुख्य सचिव स्तर से इसकी समीक्षा करने की तैयारी की गई है। भागलपुर जोन के बेगूसराय में शराबबंदी कानून को लेकर पिछले सप्ताह सजा हुई है।शुक्रवार को समीक्षा की गई कि कितने केसों में कोर्ट में स्पीडी ट्रायल चल रहा है। पूछा गया कि अब तक कितने लोग शराब की नशे में और कितने लोग शराब की तस्करी में पकड़े गए हैं। अबतक कितने लोगों की संपत्ति और वाहन जब्त किए गए हैं। कितने पुलिस कर्मी शराब की नशे में पकड़े गए हैं और कितने पुलिस कर्मी शराबबंदी कानून में रुचि नहीं ले रहे हैं। इन तमाम बिंदुओं की समीक्षा की गई है।


26 जुलाई तक सभी जिले के एसपी से कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी गई है। उन्होंने कहा कि शराब तस्करी पर रोक लगाने के लिए रणनीति बनाई जा रही है। झारखंड बार्डर की सुरक्षा मजबूत की जाएगी। कुछ एसपी ने होमगार्ड की कमी की बात कही है लेकिन शराब माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई में बल की कोई कमी नहीं होने दी जाएगी। जल्द ही शराब माफियाओं और शराब तस्करी के खिलाफ बड़ा अभियान शुरू किया जा रहा है। इसके लिए एक-दूसरे जिले की पुलिस कोर्डिनेशन बनाकर काम करेंगे। अईजी ने कहा कि जोन में अबतक करीब 30 पुलिसकर्मियों के खिलाफ शराबबंदी कानून को लेकर कार्रवाई की गई है। इसके अलावा जिले के विध व्यवस्था के बारे में जानकारी ली गई। बैठक में डीआईजी विकास वैभव, एसएसपी मनोज कुमार, बांका एसपी राजीव रंजन, नवगछिया एसपी पंकज कुमार सिन्हा और खगड़िया एसपी मीनू कुमारी उपस्थित थी।