ब्रेकिंग -एसपी सारण की ताबड़तोड़ छापेमारी से घबराये अपराधियों ने महज 8 घण्टे मेंअपहृत सरपंच को छोड़ा

16

धर्मेन्द्र रस्तोगी, ब्यूरो कोर्डिनेटर, सारण

पटना Live डेस्क। छपरा से अपहृत सरपंच को पुलिस के दबिश स्व घबराये अपराधियों ने महज 8 घंटे के अंदर अपहरणकर्ताओं ने सरपंच को मुक्त कर दिया है।
अपहरणकर्ताओ ने सरपंच को मारपीट कर गौरा ओपी के रामपुर गांव के बाहर छोड़ दिया और फरार हो गए। लेकिन छोड़ने से पहले धमकी दी और जमकर लप्पड़ थप्पड़ किया है। सकुशल लौटे सरपंच ने अहले सुबह गौरा ओपी को सूचना दी। सरपंच के लौटने की ख़बर मिलते ही मौके पर पहुंचे पुलिस के कई वरीय अधिकारी, सरपंच से पूछताछ कर रहे है ताकि पूरा सच सामने आ सके। वही उम्मीद की जा रही है जल्द ही सरपंच के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

बिहार के सारण जिले में एक पंचायत सरपंच के अपहरण से सनसनी मच गई है। मामले की जानकारी मिलते ही छपरा डीएम व एसपी घटना स्थल पर पहुच कर मामले की तफ्तीश में जुट गए है। एसपी के साथ ही खैरा,नगरा,गौरा,मढ़ौरा थाना प्रभारीभी घटना स्थल पर मौजूद है। घटना के बाबत मिली जानकारी के अनुसार अपहरण की घटना के मूल में दो परिवारो का पुराना विवाद बताया जा रहा है। वही बातौर अपहरणकर्ता रामपुर पंचायत के मुखिया राकेश सिंह के भतीजे प्रवीण कुमार का नाम अभी तक पुलिस के सामने खुल कर आया है।

घटना के बाबत मिली जानकारी के अनुसार गौरा ओपी क्षेत्र के रसूलपुर पंचायत के सरपंच
को सोमवार की देर शाम लगभग 9:30 बजे किसी नेवता में शामिल होकर बाइक से अपने घर सिसवा लौट रहे थे। सरपंच जैसे ही गौरा-नगरा मेन रोड पर स्थित अपने गाँव सिसवा के पास पहुचे स्कोर्पियो पर सवार अपराधियों ने पहले उनकी बाइक को टक्कर मारकर सरपंच को गिरा दिया और फिर उन्हें पकड़कर जबरिया स्कोर्पियो में बिठा लिया और भागने लगे। अपराधियों द्वारा दबोचे जाने के दौरान सरपंच द्वारा चिखने चिल्लाने की आवाज सुन ग्रमीणों ने जब विरोध करना शुरू किया तो अपराधी ताबड़तोड़ फायरिंग कर भाग निकले। सरपंच के अपहरण की सूचना आग की तरह इलाके में फैल गई। सरपंच के परिजनों और ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना गौरा ओपी को दी गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए ओपी प्रभारी ने इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दी गई।
मिली जानकारी के आनुसार रात्रि 10:30 में एसपी सारण हरकिशोर सिंह,मढौरा एएसपी अशोक कुमार सिंहघटना स्थल पर पहुंच मामले की जांच में जुट गये। वही घटना की सूचना मिलते ही सारण डीएम भी पहुचे। इस मामले में पुलिस से सम्पर्क नहीं होने से खबर की पुष्टि नहीं हो पाई है।