BiG News (वायरल ऑडियो)अनुकंपा पर नौकरी दिलाने के नाम पर सिपाही की विधवा से सार्जेंट मेजर करता था गंदी बातें, ऑडियो वायरल

पटना Live डेस्क।मुजफ्फरपुर के रेल पुलिस इंस्पेक्टर सह सार्जेंट मेजर द्वारा नौकरी दिलाने के नाम पर एक विधवा पर शरीरिक संबंध बनाने का दबाव देने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। इस वायरल वीडियों के बाबत दावा किया जा रहा है कि मृत सिपाही की विधवा को नौकरी के बदले अपने मुजफ्फरपुर के लीची बगान रेलवे कॉलोनी स्थित सरकारी आवास पर बुलाने वाले और फोन पर गंदी बातें करने वाले शख्स इंस्पेक्टर सह सार्जेंट मेजर कामेश्वर दास है। वायरल ऑडियो में जिस महिला के साथ सार्जेंट मेजर की बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ है, उसके पति मुजफ्फरपुर रेल पुलिस में सिपाही थे। पांच वर्ष पूर्व हार्टअटैक से उनकी मौत हो गई थी। महिला की कुछ दिनों पहले अनुकंपा पर बहाली हो गई है। अभी उक्त महिला ट्रेनिंग कर रही है।

अनुकंपा पर नौकरी से पहले का है ऑडियो

सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो में सार्जेंट मेजर पर आरोप है कि वह महिला को अपने घर आने को कह रहा है। ऑडियो में सार्जेंट मेजर न सिर्फ आपत्तिजनक बातें कर रहे हैं, बल्कि महिला पर जबरिया शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव भी डाल रहा है।ऑडियो के वायरल होने के बाद जब पूरे मामले के बाबत पटना Live द्वारा उक्त महिला आरक्षी से बात की गई तो उसने ने ऑडियो में खुद के होने की न केवल बात पर सहमति जताइ बल्कि साथ ही आरोप लगाया कि उसे सार्जेंट मेजर द्वारा वर्त्तमान में भी लगातार तंग किया जा रहा है। साथ ही यह भी बताया कि यह ऑडियो तब का है जब मै अनुकंपा पर नौकरी के लिए भाग-दौड़ कर रही थी।

ADG बोले रेल एसपी के रिपोर्ट के पर होगी कार्रवाई

ऑडियो सामने आने के बाद पुलिस मेंस एसोसिएशन का तेवर बेहद तल्ख है। शुक्रवार को मेंस एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार धीरज के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने एडीजी और डीजीपी से मिला। प्रतिनिधिमंडल ने इंस्पेक्टर सह सार्जेंट मेजर कामेश्वर दास पर अविलंब कार्रवाई की मांग की। एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि पुलिस मैनुअल में ऐसा प्रावधान है कि बगैर प्रोसिडिंग के पुलिसकर्मी को बर्खास्त किया जा सकता है। इसी नियम के तहत सार्जेंट मेजर पर कार्रवाई की जाए। उसकी गिरफ्तारी तत्काल सुनिश्चित की जाए।
इस मामले में एडीजी एसके सिंघल ने कहा की मुजफ्फरपुर रेल एसपी से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की गई है। रिपोर्ट मिलने के बाद दोषी पदाधिकारी पर कार्रवाई होगी।