सीएम नीतीश कुमार ने दिए बैंकों से अवैध निकासी को लेकर जांच के आदेश,250 करोड़ रुपए के घोटाले की आशंका

पटना Live डेस्क. भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रहे नीतीश कुमार ने भागलपुर में बैंकों से राशि की अवैध निकासी को लेकर जांच के आदेश दिए हैं. सीएम नीतीश कुमार ने इसको लेकर बड़ा बयान दिया है. इस मामले में सीएम नीतीश कुमार ने उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं. सीएम के आदेश के बाद एक पांच सदस्यीय कमेटी का गठन किया है जो जांच के लिए भागलपुर पहुंच चुकी है. जांच टीम आर्थिक अपराध ईकाई के आईजी जेएस गंगवार के नेतृत्व में गठित की गई है.

 

एसआईटी ने सृजन महिला समिति प्राइवेट लिमिटेड की बैंक प्रबंधक सरिता झा समेत कई महिलाओं को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. वहीं एसआईटी ने इंडियन बैंक के भी प्रबंधक समेत अन्य लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है.

दरअसल बिहार सरकार द्वारा भागलपुर जिला प्रशासन के तीन सरकारी बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर किए गए थे. बाद में इस सरकारी राशि को सृजन महिला संस्था नामक एक गैर सरकारी संगठन के छह बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया गया. इस संस्था का संचालन मनोरमा देवी करती थी.

 

इस मामले में आश्यर्चजनक पहलू यह है कि वर्ष 2008-09 से चल रहे इस खेल में सरकार के स्तर से जितने भी चेक बैंक को सौंपे गए, उन सभी चेक का भुगतान पिछले फरवरी माह तक होता रहा. पिछले फरवरी माह में मनोरमा देवी की मृत्यु के बाद जब बैंक ने सरकार के स्तर से जारी किए जा रहे चेक का भुगतान बंद कर दिया तब यह मामला सामने आया.

उन्होंने बताया कि ईओयू की टीम सृजन महिला समिति नामक एनजीओ की वर्तमान संचालक सरिता झा समेत कई अन्य महिलाओं से इस घोटाले के संबंध में पूछताछ कर रही है. साथ ही इंडियन ओवरसीज बैंक के मैनेजर व अन्य अधिकारियों से भी पूछताछ की जा रही है.