Big Breaking – गोपालगंज में अपराधियों का तांडव,  मुखिया संघ के अध्यक्ष घर पर चढ़कर अंधाधुन्ध फायरिंग कर मां और बेटे की हत्या,मुखिया और एक अन्य बेटा गंभीर रूप से जख्मी,गोरखपुर रेफेर

0
374

पटना Live डेस्क। बिहार में सुशासन अब लगभग दम तोड़ चुका इसकी बानगी सूबे में अपराधियों का रोज़ ब रोज़ जारी तांडव है।इसी क्रम में गोपालगंज में बाइक पर आए अपराधियों ने दुस्साहस का चरम पार करते हुए जिले के उचकागांव मुखिया संघ के अध्यक्ष के घर पर चढ़ाई कर दी।बाइक पर सवार होकर आए 3 अपराधियों ने अत्याधुनिक हथियार से अंधाधुंध फायरिंग करते हुए मुखिया के परिवार को भून दिया। इस वारदात में मुखिया पुत्र की मौत हो चुकी है,जबकि मुखिया,उनकी पत्नी तथा एक और बेटा जीवन-मौत से जूझ रहे है। वही तीनों की स्थिति बेहद गंभीर है। सदर अस्पताल से डॉक्टरों ने प्राथमिकी उपचार कर मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया है। उधर गोलीबारी की घटना से पूरा इलाका थर्रा उठा है। गोपालगंज एसपी राशिद जमां ने घटना की पुष्टी करते हुए बताया कि खुरेजी की अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित कर दी गयी है। सीमावर्ती इलाकों में सघन जांच की जा रही है। जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
गांव में गोलीबारी होते ही अपरा तफरी मच गयी। घटना को अंजाम देकर अपराधी फिल्मी अंदाजे में भाग निकले।उधर, घटना की सूचना पर मौके पर स्थानीय थाना समेत प्राशासनिक अमला पहुचा। वही स्थानीय थाना उचकागांव पुलिस ताबड़तोड़ छापेमारी में जुटी हैं। मौके पर हथुआ एसडीपीओ पहुंचकर घटना की जानकारी लेकर अपराधियों की तलाश में नाकेबंदी शुरू कर दी।
चश्मदिदों के अनुसार उचकागांव थाना क्षेत्र के बलेसरा पंचायत के मुखिया महातम चौधरी अपने पिडरा स्थित दरवाजे पर मंगलवार की देर शाम तकरीबन 7.30 बजे बैठे थे। तभी बाइक पर सवार तीन अपराधी पहुंचे। मुखिया को निशाना बनाकर अंधाधुंध गोलिया बरसाने लगे। ताबड़तोड़ फायरिंग से अफरा-तफरी मच गयी।इस गोलीबारी में मुखिया महातम चौधरी 50 वर्ष, उनकी पत्नी प्रभावती देवी 48 वर्ष, बड़ा बेटा सत्येंद्र यादव 30 साल, छोटा बेटा नगेंद्र यादव 30 वर्ष को गोली लग गयी। गोली लगने से घायलों  के शरीर से खून की फव्वारे फुट पड़ा। कोहराम मचाने के बाद तीनो अपराधी भाग निकले।
गोलिबारी में घायलों को घटना के बाद  गांववालों सभी को लेकर सदर अस्पताल इलाज के लिए पहुंचे,जहां डॉक्टरों ने मुखिया दम्पति के बेटे सत्येंद्र यादव 30 वर्ष को मृत घोषित कर दिया।जबकि अन्य घायलों को तत्काल गोरखपुर रेफर कर दिया गया। घटना की सूचना पूरे इलाके में आग की तरह फैल गयी।
गोलिबरी की घटना के मिलते ही जो जहां था वही से अस्पताल पहुंचने लगा। महातम चौधरी पिछले तीन टर्म से मुखिया है। घटना के कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है।पुलिस के वरीय पुलिस  अधिकारी फिलहाल कुछ भी बताने से परहेज कर रहे है। घटना के बाद से पूरे इलाके में भय व्याप्त है।

Loading...