क्या होगा गठबंधन का?आरजेडी और जेडीयू अपनी बातों पर अडिग

राज्य में मौजूदा सियासी तनातनी के बीच जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा है कि, ‘राजद को तेजस्वी यादव के मामले में स्पष्ट राय रखनी चाहिए,उनकी सफाई से काम नहीं चलने वाला है, इस रवैये से काफी सवाल खड़े होते नजर आ रहे हैं, ऐसी स्थिति में तेजस्वी को कोई स्पष्ट राय रखनी होगी’. वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि जेडीयू इंतजार कर रही है. उन्होंने कहा कि पार्टी ने तेजस्वी का इस्तीफा नहीं मांगा है, अब जो भी फैसला होगा उसे समय तय करेगा. वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने पहले भी गठबंधन की सरकार चलायी है और अब भी चला रहे हैं. जेडीयू का नजरिया साफ है, नीतीश कुमार समय आने पर सही फैसला लेंगे और हमें सही वक्त का इंतजार करना चाहिए. वहीं इसके जवाब में राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे. रामचंद्र पूर्वे ने कहा कि, ‘’तेजस्वी यादव ने हमेशा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जीरो टॉलरेंस की मर्यादा की रक्षा की है। उन्होंने कोई भ्रष्टाचार नहीं किया है। मंत्री के रूप में तेजस्वी के कार्य को जनता से सराहा है। पूर्वे ने कहा कि मोदी, आरएसएस और बीजेपी ने सीबीआई के जरिए तेजस्वी को फंसाने का काम किया है।

तेजस्वी यादव के खिलाफ सीबीआई का केस दर्ज करने के बाद गठबंधन की सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं, एक तरफ जहां जेडीयू ने इशारों ही इशारों में तेजस्वी के इस्तीफे की मांग की है वहीं आरजेडी एकसुर से तेजस्वी के इस्तीफे से इनकार कर चुका है.