राजद की 27 अगस्त की रैली शरद यादव के लिए साबित होगा जेडीयू में आखिरी दिन,पार्टी ने शरद को दिया अल्टीमेटम

पटना Live डेस्क.  राजद की 27 अगस्त की रैली शरद यादव के लिए शायद जेडीयू में आखिरी दिन साबित हो सकता है. आप सोचेगें भला ऐसा क्यों..रैली राजद की है तो ये शरद यादव का आखिरी दिन कैसे हो सकता है..तो हम आपको बताते हैं.. दरअसल शरद यादव सीएम नीतीश कुमार के महागठबंधन तोड़कर बीजेपी के साथ सत्ता में आने को लेकर खासे नाराज हैं. अपनी नाराजगी के चलते शरद ने अलग राह पकड़ ली है और वो खुलेआम जेडीयू को चुनौती दे रहे हैं. जेडीयू ने भी उनके लिए आखिरी डेडलाइन तय कर दी है..पार्टी की मानें तो शरद को यह साफ चेतावनी दे दी गई है कि अगर वो लालू की 27 अगस्त की रैली में शामिल हुए तो उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा. पार्टी की तरफ से मिले अल्टीमेटम के बाद भी शरद अपनी बातों से झुकते हुए दिखाई नहीं दे रहे हैं और उन्होंने लालू की रैली में हिस्सा लेने का एलान कर दिया है..ऐसे में अब जेडीयू शीर्ष नेतृत्व के पास उन्हें पार्टी से बाहर किए जाने के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं दिखाई दे रहा है.

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव और प्रवक्ता के सी त्यागी ने पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव को पत्र लिखकर कहा है कि आज के अखबारों में राजद की रैली में आपके शामिल होने का बयान पढ़ कर आश्चर्य और दु:ख हुआ क्योंकि राजद ने इस रैली का आयोजन अपने परिवार के लोगों के भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने के लिए किया है.

उन्होंने कहा इस रैली में आपकी उपस्थिति से निश्चित होगा कि आपने न सिर्फ उच्च आदर्शों एवं सिद्धांतों के खिलाफ आचरण किया है बल्कि स्वेच्छा से जनता दल यू का त्याग भी कर दिया है.

त्यागी ने पत्र में कहा है कि बिहार पार्टी एवं विधानमंडल दल के 26 जुलाई 2017 के सर्वसम्मत फैसले की आप सार्वजनिक तौर पर आलोचना कर चुके हैं. दल के वरिष्ठ नेता होने के नाते पार्टी ने गरिमापूर्ण व्यवहार कर आपको राष्ट्रीय कार्यकारिणी एवं राष्ट्रीय परिषद की 19 अगस्त को हुई बैठक में भी आमंत्रित किया था. लेकिन अफसोस है कि आप पटना में ही समानांतर पार्टी विरोधी गतिविधियां संचालित करते रहे और आपने पार्टी के मंच को अपनी बात रखने का उपयुक्त मंच नहीं माना. ऐसे में आशा है कि आप नीति, सिद्धांत और आदर्शों को प्राथमिकता देते हुए भ्रष्टाचार बचाने के नाम पर आयोजित राजद की रैली में शामिल होने से परहेज करेंगे.

उधर शरद यादव ने आज फिर दोहराया है कि वह 27 अगस्त को पटना के गांधी में मैदान में राजद की बुलाई गई भाजपा भगाओ रैली में अवश्य भाग लेंगे.