Super Exclusive (वीडियो) नागिन नाच .. और फिर धाय धाय कटिहार SP और DM की विदाई जश्न का असली सच -Xposed

पटना Live डेस्क। बिहार कैडर के 2006 बैच के IPS अधिकारी और कटिहार के SP रहे सिद्धार्थ मोहन जैन की हर्ष फायरिंग करते हुए एक वीडियो ने देश भर में कोहराम मचा दिया। चुकी एक  IPS ताबड़तोड़ फायरिंग का वीडियो वायरल होते ही सरकार ने आईपीएस के 4 साल के लिए CBI में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर जाने की परमिशन को निरस्त कर दिया। लेकिन अब जो तस्वीर पटना Live  आपको दिखाने जा रहा है उसको देखने के बाद आप यही कहेंगे कि – SP के ख़िलाफ़ गहरी साज़िश रची गई थी जिसके वो शिकार हो गए।

इस घटना क्रम का सच बताने से पहले आप वो वायरल वीडियो देखिये जिसने IPS महोदय को रातो रात सोशल मीडिया पर चर्चित कर दिया…

अब इस वायरल वीडियो के पीछे का सच अब हम आपको दिखाते है और इस सवाल का सच यानी क्या आईपीएस को हर्ष फायरिंग के लिए उकसाया गया? का सच तलाशते है, आपके सहयोग से पुख्ता तस्वीरों से ताकि साज़िश का सच सामने आ सके। देखिये फायरिंग के पहले नागिन नाच और फिर वो मनुहार या उकसावा
जिसने महज चंद पलो में देश भर में सुर्खियां बटोर ली।                              पटना Live की तहकीकात में जो चश्मदिदों से जानकारी मिली वो इस प्रकार थी कि कई तथाकथित पत्रकार उनको उकसाने में कोई कोर कसर नही छोड़ रहे थे। हद तो ये की कटिहार के एक दैनिक अखबार के पत्रकार और सरकारी टीवी न्यूज चैनल के झंडाबरदार सहाफी विदाई के जश्न में नागिन डांस कर रहे थे। हद तो ये की इतना बौराए थे कि आईपीएस सिद्धार्थ को बार बार …….वैसे ये विडीओ बहुत कुछ कहता है … ग़ौर फ़रमाए और Truth Exposed मुहिम से जुड़े।

वाह पत्रकार,वाह पत्रकारिता … भरतीय कानून व्यवस्था में अपराध करने वाला तो सज़ा के हकदार है। वही साज़िश रचने में और उकसाने वाला/वाले भी तो गुनहगार होते है तो क्या इन को भी सज़ा मिलेगी ताकि समाज और सूबे के कर्मठ और असली क़लमकार और सहाफी मुश्किल हालातों में भी गर्व के साथ अपनी क्रांति की लौ जलाए रखे। सवाल के जवाब आप सब से चाहिए ….