Exclusive (वीडियो)आईपीएस ने सरेआम उड़ाई नियमो की धज़्ज़िया नीली बत्ती चमकाते पहुचे अपने गाँव बिहार के रोहतास,पत्रकारों को धमकाया

0
144

रंजन सिंह रोहतास बिहार

पटना Live डेस्क। भले ही केन्द्रीय परिवहन विभाग और भारत सरकार ने वीआईपी कलचर को खतम  करने के लिए नियम बना दी गई और पुरे देश में लागू कर दी गई। केंद्र के बाद सबसे पहले उतर प्रदेश के योगी सरकार ने इस कल्चर को समाप्त कर कानून राज को कायम की और नियमो के बंधन को बाँध कर अपने सारे पदाधिकारी , पुलिस पदाधिकारी ,मंत्री ,विधायक यहा तक की खुद उतर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी भी इस नियम का पालन करते हुए अपने वाहन से खुद ही नीली बती हटवा कर मिशल कायम की , यहाँ तक की देश के प्रथम और सर्वोच्च नागरिक महामहिम राष्ट्रपति भी इस नियम का समान करते हुए अपने वाहन से बती को तत्काल हटवा दिया। इस सराहनीय कदम के लिए केंद्र सरकार की काफी सराहना हुई। लेकिन एक अजीबो गरीब स्थिति देखने को मिली रोहतास जिले के बिक्रमगंज में,जहा यूपी के सम्बल जिला के पुलिस कप्तान रवि शंकर छवि की जो सारे कानून को ताक पर रखकर अपने निजी वाहन पर नीली बती लागाकर पुरे शानो शौकत और ठसक से बिक्रमगंज बजार में घूम रहे थे। पुलिस कप्तान के वाहन को देखकर किसी की क्या मजाल  जो उनकी गाडी को रोका दे। साहब पुरे रुतबे और अपने लाव लश्कर के साथ नीली बती लगाकर घूम रहे थे।


जब इस सम्बंध में पुलिस कप्तान संभल उत्तरप्रदेश से पूछा गया तो साहब कानून भी तोड़ते है और पत्रकारों को धमकी देते है। पूछने पर की क्या उनको अपने वाहन पर नीली बती का प्रयोग करना है तो साहब का कथन है कौन मना करेगा ,जब पूछा गया की आप एक समक्षम पदाधिकारी है और इस तरह करेंगे तो साहब ने एसपी का रौब दिखाते हुए कहा की तुम कानून सिखाओगे चलो बट्टे है , राष्ट्रपति से केन्द्रिय परिवहन विभाग का भी सबका हवाला दिया गया फिर भी साहब अपने पुलिसिया रुआब नहीं छोड़े और पत्रकारों को चलो बताते है कहने लगे।
चुकी 2007 बैच के आइपीएस रवि शंकर छवि  रोहतास जिले के बिक्रमगंज अनुमंडल के सराव गाव के रहने वाले है और इस समय छुट्टी पर अपने गाव किसी शादी समारोह में आये हुए है।आखिर पुरे देश में कानून के तौर पर नीली बती और वीआईपी कल्चर को समाप्त कर दिया गया फिर भी ये अधिकारी क्या साबित कर रहे है।

एक बात और यह गाडी नीली बती लगाकर बिक्रमगंज अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यलय के ठीक सामने लगी हुई थी ? क्या पुलिस कप्तान संभल( यूपी) को यह मालुम नहीं की पुरे देश में अगर नियम लगा है तो बिहार भारत देस का ही राज्य है। जब कानून के रखवाले ही इस तरह कानून की धजिया उदायंगे तो आम जनता का क्या होगा। देखना यह है की यूपी की योगी सरकार के करवाई करती है ?

बाईट – रवि शंकर छवि पुलिस कप्तान जिला संभल –उतरप्रदेश