बड़ी खबर (वीडियो) संदिग्ध हालात में जदयू नेता प्रगति मेहता की पत्नी की मौत,फंदे से लटके शव को देख उठ रहे है बेहद गंभीर सवाल

774

पटना Live डेस्क। बिहार के सत्ताधारी दल जदयू के एक महासचिव की पत्नी ने खुदकुशी कर ली। हालांकि
आत्महत्या के कारणों को पता नहीं चल सका है। पुलिस के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार पार्टी महासचिव प्रगति मेहता की पत्नी खुशबू ने मंगलवार की दरमियानी रात गले में फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। लेकिन पत्नी के शव के हालात देखकर अब कई सवाल उठ रहे है। दरअसल शव जिस हालात में मिला है वो ढेरो सवाल खड़े कर रहा है।
वही मिली जानकारी के अनुसार प्रगति मेहता की पत्नी ने अपने पैतृक आवास में आत्महत्या की है। यह आवास जमुई जिले के गिद्घौर थाना क्षेत्र के गिद्घौर बाजार में हैं। जदयू नेता प्रगति मेहता ने बताया कि रात में एक साथ बैठकर खाना खाया और एक ही कमरे में सोने चले गए। रात के लगभग तीन बजे जब मेरी 2 वर्षीया बेटी रोने लगी तो मैंने सोचा की खुशबू बाथरुम गई होगी। कुछ देर बाद भी उसके नहीं आने पर घर के बाथरुम में जा कर देखा तो खुशबू वहां नहीं थी। जिसके बाद बगल के कमरे का दरवाजा खुला देख वहां जा कर देखा तो खुशबू पंखे से मृत अवस्था में लटकी मिली। मेरे हो हल्ला करने के बाद छत पर सो रहे घर के लोग नीचे आए और पंखे से लटक रही खुशबू को देख हतप्रभ हो गए। फिर क्या था घर मे कोहराम मच गया।घटना की सूचना मिलते ही गिद्धौर पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की छानबीन में जुटी है।
उल्लेखनीय है कि जदयू नेता प्रगति मेहता की शादी चार साल पहले समस्तीपुर के मौहिदीनगर के अरुण मेहता की पुत्री खुशबू के साथ हुई थी। उन्हें एक दो वर्षीय पुत्री दिव्यांशी है।
वही, दूसरी तरफ खुदकुशी के कारणों का अबतक पता नही चला है। लेकिन प्रगति की पत्नी खुशबू के शव के हालात देखकर अब कई सवाल उठ खड़े हुए। दरअसल जदयू नेता की पत्नी का शव बगल के कमरे में मिला जहां बिस्तर के उपर एक लाल रंग की कुर्सी और गले मे फंदा लगाए शव जिसकी डोरी पंखे से लटकी है। लेकिन पंखे के ब्लेड से लटका फंदा कुछ और ही इशारे कर रहा है। बिस्तर पर पड़ी कुर्सी के हालात भी संदेह पैदा कर रहे है। आप देखिए वो वीडियो …