बड़ी खबर — भाजपा सरकार के नवनियुक्त मंत्रियों के बोल:”पीट-पीटकर मारेंगे”,”हाथ काट देंगे”, तो किसी ने मुसलमान से हाथ मिलाने से किया मना

23

पटना Live डेस्क। नरेंद्र मोदी कैबिनेट का तीसरा और संभवत: आखिरी विस्तार हुआ। पीएम मोदी, पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहित भाजपा नेता शपथ ग्रहण समारोह के लिए राष्ट्रपति भवन में मौजूद रहे। इस नए कैबिनेट फेरबदल में 4 मंत्रियों का प्रमोशन हुआ है जबकि 8 नए चेहरों को राज्यमंत्री के रूप में शामिल किया गया है। कैबिनेट में हुए फेरबदल के बाद पीएम मोदी ने नए मंत्रियों को ट्वीटर के जरिए बधाई भी दी।

कहते है सियासत में गुमनाम होने से बेहतर विवादों को जन्म देना। शायद इसी का पालन करते हुए मंत्रियों राजनेता और विवाद बहुत दूर नहीं रहते हैं। लेकिन कई नेता अपने से जुड़े विवादों के कारण लंबे वक्त तक चर्चा में रहते हैं। मोदी की कैबिनेट में शामिल किए गए कई मंत्रियों का भी विवादों से गहरा रिश्ता रहता है। आइए एक नजर डालते हैं मोदी सरकार में शामिल नए 4 मंत्रियों के बेहद विवादस्पद पूर्व के बयानों पर…

डॉक्टरों से मारपीट का आरोप

अनंत कुमार हेगड़े, राज्य मंत्री और कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ से सांसद

हेगड़े पर इस साल की शुरूआत में डॉक्टरों से मारपीट का आरोप लगा था। 2 जनवरी को डॉक्टरों से की गई मारपीट का यह मामला कर्नाटक के सिरसी शहर का था। हेगड़े ने प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टरों और स्टाफ को जमकर पीटा था. उनकी मां उस अस्पताल में भर्ती थीं और वह उनसे मिलने गए थे। वहां उनके एक रिश्तेदार ने उन्हें बताया कि डॉक्टर उनकी मां की ठीक तरह से देखरेख नहीं कर रहे हैं। इसी बात पर सांसद हेगड़े तिलमिला गए और उन्होंने डॉक्टरों और अस्पताल कर्मचारियों के साथ धक्का-मुक्की करते हुए जमकर मारपीट की। डॉक्टरों से मारपीट की यह घटना अस्पताल में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई। इस घटना में एक नर्स समेत कुछ कर्मचारियों को चोटें आईं थीं। सांसद की बदसलूकी का यह वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। हालांकि इस मामले में कोई औपचारिक शिकायत दर्ज नहीं कराई गई थी।

 

‘भारत-विरोधियों’ को पटककर मारेंगे -आरके सिंह, राज्य मंत्री और आरा से सांसद

देशद्रोही बनाम राष्ट्रभक्त की जब बहस चल रही थी तब बीजेपी सांसद और पूर्व गृह सचिव आरके सिंह ने कहा था कि अगर कोई उनके सामने भारत-विरोधी नारे लगाएगा तो वो उसे पटककर मारेंगे। सिंह के मुताबिक वो राष्ट्रवादी हैं और देश के खिलाफ कोई बात नहीं सुन सकते।

हाथ काट देंगे- -अश्विनी चौबे, राज्य मंत्री

अश्विनी चौबे ने एक बार तालिबानी बयान दिया था। तब बिहार में स्वास्थ्य मंत्री रहे चौबे ने सरकारी अस्पतालों के जूनियर डॉक्टरों को चेतावनी देते हुए हड़ताल की स्थिति में हाथ काटने तक की धमकी दे डाली थी।

मुस्लिम से नहीं मिलाया हाथ

अश्विनी चौबे ने एक बार मुस्लिम शख्स से हाथ मिलाने से इनकार कर दिया था।बक्सर के भोजपुर स्थित किले के दौरे पर गए चौबे को मुस्लिम बहुल इलाके की स्थानीय जनता से मिलना था।मौके पर पहुंची जनता ने चौबे से हाथ मिलाने की कोशिश की पर सांसद साहब ने लोगों का हाथ झटककर कहा था कि हम हाथ नहीं मिलाते हैं, यहां से जाइए।

विपक्षी नेता को कहा- दिमागी बीमार -मुख्‍तार अब्‍बास नकवी, कैबिनेट मंत्री

मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने एक बार कहा था कि केजरीवाल का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है। उन्‍होंने कहा था कि ऐसे लोगों के बारे में कुछ भी कहना ठीक नहीं है। नकवी, केजरीवाल के वाराणसी में हिंसा की आशंका वाले ट्वीट के जवाब में ये बात बोले थे।