बड़ी खबर (वीडियो) भागलपुर को दंगे में झोंकने की कोशिश नाकाम ,झड़प और बवाल के बाद भी हुई अमन-चैन की जीत

0
15

पटना Live डेस्क। बिहार के भागलपुर के नाथ नगर क्षेत्र में शनिवार लगभग 4:00 बजे भारतीय नकव वर्ष  के उपलक्ष्य में जुलूस निकाली गई। इसका नेतृत्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे का बेटे अर्जित चौबे के नेतृत्व में एक भव्य जुलूस का आयोजन किया गया। भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर निकले जुलूस के दौरान दो पक्षों में हुई हिंसक झड़प में 60 लोग घायल हो गए। दर्जनों दुकानें जला दी गईं। कई  मोटर साइकिले फूंकी गई। उपद्रवियों ने 15 राउंड फायरिंग की और चार बम भी फोड़़े। तनाव को देखते हुए क्षेत्र में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। कई घंटे तक पथराव, बमबाजी,फायरिंग और तोडफ़ोड़ हुई। चार जिलों की पुलिस बुलाई गई, तब स्थिति नियंत्रण में आई।

नववर्ष की पूर्व संध्या पर निकला था जुलूस

भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर नववर्ष आयोजन समिति द्वारा बाइक जुलूस निकाला गया था।जानकारी के अनुसार विक्रम संवंत जुलूस के दौरान मेदनीनगर चौक पर एक पक्ष के लोगों ने गाना बजाने और चौक पर जुलूस ठहरने से मना किया। इसको लेकर जुलूस में शामिल लोग और स्थानीय लोगों में टकराव हुआ। फिर मामल शांत हुई और जुलूस आगे चला गया। उसके बाद चंपानगर के लोगों ने सड़क पर पथराव आरंभ कर दिया।ऑटोरिक्शा रोककर तोडफ़ोड़ करने लगे। इसके बाद बाबू टोला के लोग भी सामने आ गए। दोनों पक्षों में घमासान शुरू हो गया। रोड़ेबाजी तीन घंटे से भी अधिक समय तक चली। पुलिस वाले जान बचाकर भागे, पांच दर्जन घायल

चंपानगर चौक पर दोपहर तीन बजे से दोनों ओर से जमकर रोड़ेबाजी, गोलीबारी और बमबाजी हुई। पांच दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। ईंट-पत्थर लगने से डीएसपी और इंस्पेक्टर जख्मी हो गए। नाथनगर इंस्पेक्टर ने मंदिर में छुपकर जान बचाई। एक पक्ष की ओर से 15 राउंड गोलियां चलाई गई। गोली लगने से जिला पुलिस बल का एक सिपाही और एक स्थानीय व्यक्ति घायल हुए। उपद्रवियों ने चार बम भी फेंके, जिसकी चपेट में आने से दो व्यक्ति जख्मी हो गए। लोगों ने मोटरसाइकिल में आग लगा दी। दुकानों और वाहनों में जमकर तोडफ़ोड़ की। उपद्रवियों को बेकाबू होते देख थाने के जवान भाग खड़े हुए। रुक-रुक कर रोड़ेबाजी होने के कारण डीएम, डीडीसी और एसएसपी को भी पीछे हटना पड़ा।

इंटरनेट सेवा बंद बड़ी संख्या में फोर्स तैनात

अफवाह पर विराम लगाने के लिए तत्काल नेट सेवा बंद करने का आदेश दिया गया। इसके बाद चार जिलों की पुलिस, क्विक रिएक्शन टीम (क्यूटीआर), पुलिस लाइन और सीटीएस से प्रशिक्षु जवानों के अलावा अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाना पड़ा। जिसके बाद स्थिति सामान्य हुई। डीएम आदेश तितरमारे और एसएसपी मनोज कुमार खुद पुलिस बल के साथ कैम्प कर रहे थे। आइजी और डीआइजी भी मौके पर मौजूद थे।  अतिरिक्त बल के आने पर स्थिति सामान्य हुई। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। स्थिति सामान्य होने के बाद भी तनाव की स्थिति बनी हुई है।
दूसरे इलाके में भी हंगामा

मामला शांत होने के बाद कुछ युवक अचानक समूह में आए और थाना के बगल वाली गली में रहने वाले दूसरे पक्ष पर पथराव करने लगे, जिसके बाद थाने के सामने ही उपद्रव आरंभ हो गया। एक मोबाइल दुकान में आग लगा दी गई। बैग की दुकान को लूट लिया गया। बीस मिनट के बाद पुलिस जगी और उपद्रवियों को खदेड़ा। इसके बाद ये लोग पुलिस पर पथराव करने लगे। यहां भी पुलिस को भागना पड़ा।
अमन-चैन की जीतशहर के नाथनगर में दो पक्षों के बीच विवाद में जमकर हुई रोड़ेबाजी,आगजनी और फायरिंग के बाद आखिर कार अमन-चैन की ही जीत हुई। जानकारी अनुसार भारती नव वर्ष समिति के द्वारा नव वर्ष को लेकर एक जुलूस नाथनगर से गुजर रहा था। इसी दौरान एक समुदाय बहुल क्षेत्र में मेदनीनगर चौक पर गाना बजाने और नारेबाजी से मना को लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद शुरू हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि देखते ही देखते पथराव होने लगा। हालांकि पुलिस की तत्परता से घटना पर कुछ ही घंटे बाद काबू पा लिया गया। भले ही कुछ असामाजिक तत्वों ने इस घटना को अंजाम दिया लेकिन वहां मौजूद लोगों ने अमन-चैन की वार्ता से ही मामले को शांत करा आपसी भाईचारे की मिसाल कायम की है। इस मिसाल ने यह साबित कर दिया कि सिल्क सिटी के लोग अमन पसंद हैं। यह अमन उजास की पहली किरण के साथ ही विवाद को पनपने नहीं देता। लोगों ने भी माना की अमन-चैन से बढ़कर दुनिया में कुछ नहीं है।जबकि कुछ असामाजिक तत्वों ने बाइकों में आग लगा दी गई और पत्थरबाजी कर सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने की भरपूर कोशिश की। लेकिन, अमन पंसद लोगों की सूझ-बूझ के कारण भाईचारे का माहौल बना रहा। इधर, ग्रामीण क्षेत्रों में भी अफवाह का बाजार गर्म होने लगा था लेकिन लोगों ने मिलनसारिता से घटना को वहीं तक सीमित रहने दिया। इस बात से इंकार नहीं कर सकते हैं कि पुलिस-प्रशासन ने भी अंतिम तक गहरे प्रेम के भाव से ही घटना पर नियंत्रण पाया। इसी प्रेम ने ही आज बीते घटना की याद को ताजा नहीं होने दिया। प्रेम से बढ़कर कुछ नहीं होता हमारा प्रेम ही हमारी सुकून को भाईचारे में तब्दील करती है।बहरहाल घटनास्थल पर पुलिस-प्रशासन लगातार फ्लैग मार्च कर रही है। साथ ही सुरक्षा की दृष्टी से इंटरनेट सेवा बंद करा दी गई है। मौके पर आइजी सुशील खोपड़े, रेंज डीआइजी विकास वैभव सहित भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद हैं।

Loading...