सवालो के घेरे में TET का रिजल्ट,अभ्यर्थियों का आरोप-व्हाइटनर का इस्तेमाल नहीं करने के बावजूद रिजल्ट इनवैलिड!

45

पटना Live डेस्क. टीईटी 2017 परीक्षा के खराब रिजल्ट के बाद अब इसको लेकर अभ्यर्थियों ने सवाल उठाए हैं…खासकर ऐसे छात्र जिन्हें इनवैलिड ड्यू टू व्हाइटनर लिखकर रिजल्ट प्रकाशित किया गया है…इसी तरह की रिजल्ट पायी एक अभ्यर्थी बताती हैं कि मैने किसी प्रकार व्हाइटनर इस्तेमाल नहीं किया लेकिन फिर भी यह रिजल्ट में कैसे शो कर रहा है…टेट अभ्यर्थी बिहार बोर्ड की रिजर्वेशन पॉलिसी पर भी सवाल उठा रहे हैं. एक अभ्यर्थी का कहना है कि बीपीएससी एग्जाम में समान्य, पिछड़ा, अतिपिछड़ा, एससी और एसटी की महिलाओं के लिए अलग अलग कट ऑफ होते हैं तो फिर TET परीक्षा में सभी श्रेणियों की महिलाओं को सिर्फ एक कैटेगरी में क्यों रखा गया है? साथ ही पिछड़ा और अति पिछड़ा का ध्यान नहीं रखा गया है…

उनके अनुसार महिलाओं को आरक्षण देना सही है लेकिन सामान्य, पिछड़ा और अतिपिछड़ी जातियों के महिलाओं का कटऑफ एक ही रखना ठीक नहीं है. आपको बता दें कि बिहार प्रारंभिक शिक्षक (प्रशिक्षित) पात्रता परीक्षा यानी टीईटी 2017 का रिजल्ट जारी कर दिया गया है. टीईटी की परीक्षा में महज 17 फीसदी परीक्षार्थी ही सफल हो पाये हैं.

6 से 8 वर्ग के शिक्षकों के लिये ली गई परीक्षा 17.84 प्रतिशत परीक्षार्थी पास कर पाये हैं… जबकि 1 से 5 तक के शिक्षकों के लिये ली गई परीक्षा में भी कम ही परीक्षार्थी पास हुए हैं… पास होने वाले परीक्षार्थियों की संख्या 49 हजार में से महज 7 हजार है… 6-8 के लिये पास होने वाले अभ्यर्थियों का प्रतिशत मात्र 16.07 है. इस परीक्षा में कुल 11 हजार 351 अभ्यर्थियों को इनवैलिड किया गया है.

वर्ग 6 से 8 तक की परीक्षा में 1 लाख 19 हजार 164 परीक्षार्थी थे इसमें से कुल उत्तीर्ण परीक्षार्थियों की संख्या 30 हजार 113 है… परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिये सामान्य का कट अफ 60 फीसदी जबकि एससी-एसटी का कट ऑफ 50 फीसदी था. बीसी 1 और बीसी 2 के लिए 55 काट ऑफ था. बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि रिजल्ट में पूरी तरह से पारदर्शिता बरती गई है और गलत प्रश्नों को हटा कर ही रिजल्ट जारी किये गये हैं.

2.43 लाख अभ्यर्थियों ने दी थी परीक्षा

बिहार से सभी जिलों में 23 जुलाई को 348 केंद्रों पर टीईटी परीक्षा कंडक्ट किया गया था. इसमें 2 लाख 43 हजार 459 अभ्यर्थी शामिल हुए हैं. पेपर-1 के लिए 50,950 तथा पेपर-2 के लिए 1 लाख 92 हजार 509 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था.