चलती गाड़ी में सील तोड़कर खींचा NEET का क्वेश्चन पेपर की तस्वीर फिर किया लीक 5 धराये

67

पटना Live डेस्क। बिहार की राजधानी पटना समेत पूरे सूबे में क्वेश्चन पेपर लीक करने वाला गिरोह सक्रिय है। हालात का अंदाज़ा आप इस बात से ही लगा सकते है कि बीएसएससी पेपर लीक कांड के महज चंद दिनों बाद ही नीट परीक्षा के पेपर लीक करने का दुस्साहस कर लिया गया। वो तो भला हो पटना एसएसपी का जिनके निर्देश पर विशेष टीम ने इन जालसाजों को समय रहते गिरफ्तार कर लिया।

पटना पुलिस द्वारा नीट की परीक्षा का पेपर लीक कराने की तैयारी में जुटे गैंग में शामिल पीएमसीएच व एनएमसीएच के एक-एक मेडिकल स्टूडेंट, एक लॉ स्टूडेंट, क्राइस्ट चर्च स्कूल गांधी मैदान के केंद्राधीक्षक अविनाश चंद्रा और पेपर लेकर बैंक से सेंटर जा रहे ड्राइवर को दबोचा गया है।पटना पुलिस ने तकनीकी अनुसंधान के जरिये इनको ट्रेस किया और पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के ओल्ड बाइपास के पास से गिरफ्तार किया है। सब कुछ चलती गाड़ी में करना था। तैयारी यह थी कि बैंक से परीक्षा केंद्र पर पहुंचने से पहले पेपर लीक करा देना था।
इस गिरोह के शातिर बैंक से ही गाड़ी में चढ़ गये थे। रास्ते में गाड़ी में रखे हुए उस बॉक्स के पीछे लगे हुए कब्जे को पेचकस से उखाड़ देना था। इसके बाद सभी चार सेट पेपर की फोटो चार अलग-अलग मोबाइल फोन से खींच लेते।फिर पेपर को स्कॉलर के जरिये सॉल्व कराया जाता और फिर क्वेश्चन पेपर और उत्तर दोनों व्हाट्सएप क जरिये वायरल किया जाता।


फोटो खींचने के बाद टेप लगाकर बॉक्स को बंद कर देना था। पेपरलीक कराने के इस हाइटेक आइडिया के इस्तेमाल से पहले सभी पकड़े गये। हालांकि पुलिस गैंग के मास्टरमाइंड तक नहीं पहुंच पायी है जो फोन पर अपने गुर्गों को गाइड कर रहा था।


पूरी फूल प्रूफ तैयारियों के तहत नीट का पेपर लीक कराने के लिए सेटर गैंग ने क्राइस्ट चर्च स्कूल के केंद्राधीक्षक अविनाश चंद्रा से सेटिंग कर लिया था। सबकुछ मैनेज था।इसलिए जब नीट की परीक्षा का पेपर लेकर सिक्युरिटी गाड़ी एक्जिविशन रोड के लवकुश टॉवर में मौजूद केनरा बैंक से निकली तभी सिक्युरिटी गाड़ी में ही दो मेडिकल स्टूडेंट और लॉ स्टूडेंट को बैठा दिया गया था। ड्राइवर भी मिला हुआ था।रविवार की अहले सुबह पेपर लेकर निकलने के बाद इन लोगों को सेंटर पर पहुंचना था लेकिन सेटिंग के मुताबिक ड्राइवर गाड़ी लेकर पत्रकार नगर ओल्ड बाइपास पर चला गया। इस दौरान तीनों स्टूडेंट का गैंग सरगना से बात हो रही थी।पुलिस ने इसी बीच सर्विलांस से गाड़ी और इनका लोकेशन ट्रेस किया और गाड़ी समेत तीन स्टूडेंट और चालक को पहले गिरफ्तार किया गया। फिर इसके बाद केंद्राधीक्षक तीनों के मोबाइल फोन पर बात कर लोकेशन ले रहे थे।पूछताछ में उनकी संलिप्तता सामने आयी।पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार किया।
इस गैंग ने बिहार के अलावे झारखंड और पश्चिम बंगाल के छात्रों से भी सेटिंग कर रखी थी। इन लोगों से मोटी रकम ली गयी थी सेटिंग वाले छात्रों को परीक्षा से पहले प्रश्न पत्र और उत्तर यह लोग उपलब्ध करा देते। पटना पुलिस पकड़े गये लोगों से पूछताछ कर रही है। माना जा रहा है कि इसमें काफी लोग शामिल हैं,पूछताछ जारी है। पूरे गैंग को दबोचने की तैयारी है।