BIG News (Video)पटना एयरपोर्ट पर महज 9 घंटो में 2-2  विमान से टकराई चिड़िया,पायलटों की सूझबूझ से टला बड़ा हादसा, बाल बाल बची सैकड़ो पैसेंजर की जान

0
133

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के एयरपोर्ट पर शनिवार को 2-2 बड़े विमान हादसे होते-होते रह गए। दोनो विमानों के पायलटों की सूझबूझ न केवल सैकड़ो यात्रियों की जिंदगी बचा ली बल्कि बेहद बड़ी दुर्घटना होने से रोल लिया। दरसअल एयरपोर्ट पर शनिवार दो विमानों की लैंडिंग के दौरान हादसा होने से बच गया।  सुबह जहां स्पाइस जेट की मुम्बई से आई फ्लाइट से लैंडिंग के दौरान पक्षी से टकरा गया तो महज कुछ घंटों के अंतराल पर शाम को 5.30 बजे दिल्ली से पटना  पहुची इंडिगो की फ्लाइट 6A-508 से भी एक बड़ी चिड़िया की टक्कर हो गया। लेकिन इस आपात स्थिति में भी दोनो निजी विमान सेवा के पायलटो ने अपनी सूझबूझ से बहुत ही स्मूथ इमरजेंसी लैंडिग कराने में कामयाब रहे।हालांकि इस घटना की जानकारी होते ही विमान में बैठे लोगों में अफरा-तफरी मच गई। लेकिन विमान के पायलट समेत क्रू मेंबर्स ने बिना घबराए विमान की फौरन इमरजेंसी लैंडिंग कराई।

स्पाई जेट – मुंबई से पटना वक्त  सुबह 8.30 बजे

पटना के जयप्रकाश नारायण एयरपोर्ट पर अपने निर्धारित समय पर शनिवार की सुबह साढ़े आठ बजे
स्पाइस जेट की मुम्बई से आने वाली फ्लाइट संख्या SG -376 लैंडिंग खातिर रनवे की तरह अप्रोच कर रही थी तभी विमान के विंग्स से एक पक्षी टकरा गया और फिर स्थिति अनियंत्रित हो गयी। फिर भी पायलट ने किसी तरह विमान को रनवे पर उतारा और ATC (एयर ट्रैफिक कंट्रोल) को इसकी सूचना दी। इसके बाद स्पाइस जेट के विमान को पार्किंग-बे में लाकर जांच की गई। साढ़े आठ बजे हुई इस घटना की वजह से स्पाइस जेट की कोलकाता कनेक्टिंग फ्लाइट डेढ़ घंटे तक पटना एयरपोर्ट पर खड़ी रही। टेक्निकल टीम द्वारा विमान की सघन जांच करने और क्षतग्रिस्त हिस्से की  मरम्मत के बाद विमान को कोलकाता के लिए रवाना होने की अनुमति दी गई।
अभी इस घटना को महज 9 घंटे ही बीते थे कि पटना एयरपोर्ट पर एक और विमान पक्षी के टकराने से अफ़रातफ़री मच गई। लेकिन अपने साथ 150 यात्रियों को लेकर दिल्ली से पटना आये इस प्लेन के पायलट ने बेहद दक्षता के साथ फ़्लाइट को क्षतिग्रस्त होने के बाद भी सही सलामत लैंड कर लिया।

इंडिगो – दिल्ली से पटना वक्त – शाम 5:30

शनिवार की सुबह बाल बाल हादसे का शिकार होने से बचे स्पाइस जेट के विमान के बाद भी पटना एयरपोर्ट प्रशासन ने सबक नहीं लिया और महज 9 घंटो के बाद शाम में दिल्ली से इंडिगफ्लाइट के साथ बिल्कुल वही हादसा हुआ। इंडिगो की फ्लाइट संख्या 6A-508 शाम
को अपने शेड्यूल वक्त पर एयरपोर्ट पर लैंड करने खातिर रनवे को अप्रोच कर रहा था तभी हवा में ही विमान से एक बड़े पक्षी की टक्कर हो गई। इस टक्कर में इण्डिगो विमान के विंग्स डैमेज हो गए पर यहाँ भी
पायलट ने विमान को रनवे पर उतार कर मामले की सूचना ATC को दी। इधर इस विमान को पटना से लौटकर दल्लिी जाना था लेकिन विमान के विंग्स का हिस्सा क्षतग्रिस्त होने के कारण इसे ग्राउंड कर दिया गया। देर रात तक पटना एयरपोर्ट पर यह विमान खड़ा रहा और यात्रियों को किसी अन्य विमान से भेजने की कोशिश की जती रही।इधर, देर रात इंडिगो के क्षतग्रिस्त फ्लाइट की मरम्मत का काम जारी रहने की वजह से फ्लाइट को रद्द कर दिया गया।

एयरपोर्ट प्रशासन की घातक लापरवाही

महज 9 घंटे के अंतराल पर हुए दो हादसों ने एयरपोर्ट प्रशासन की घातक लापरवाही न केवल उजागर कर दिया है बल्कि जानकारों का मानना है कि इस प्रकार की लापरवाही हादसों को न्योता देने के समान है। दरअसल एपरपोर्ट के रनवे और हवाई मार्ग से पक्षियों  को दूर रखने का ठेका एक निजी कंपनी को दिया गया है। लेकिन ठेकेदार कम्पनी के लापरवाहियों की वजह से पटना एयरपोर्ट के रनवे की सुरक्षा भगवान भरोसे चल रही है। ज्ञात हों कि पक्षियों को हटाने के लिए पटाखे फोड़ने व अन्य उपायों पर अमल बिल्कुल भी नहीं किया जाता। जिसका सुबूत है महज नौ घंटो में दो विमानों का पक्षियों से टकरा जाना है।
दो घटनाओं के बाबत जब पटना एयरपोर्ट के जिम्मेदार अधिकारियों से जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की गई तो अधिकारियों ने फ़ोन नहीं उठाया और जिन्होंने उठा वो टेक्नीकल बातें की दुहाई देते हुए घटना का सच छुपाने की कोशिश करते रहे,पर सवाल लगातार पूछने पर मोबाइल आउट ऑफ रीच हो गया।