BiG News(वीडियो) बारूद के ढेर पर सहरसा, नहीं थम रहा है जिले में हर्ष फायरिंग का सिलसिला, डांसर मधु के बाद अब एक युवक की मौत

2

राजीव झा, ब्यूरो कोर्डिनेटर ,कोसी 

पटना Live डेस्क।सूबे में सुशासन है। ये दावा नीतीश सरकार का है। लेकिन ज़मीनी हकीकत बिल्कुल उलट है। वही बात करे अगर सहरसा की तो जिले से पुलिस-प्रशासन का निज़ाम ख़त्म हो गया है। डांसर मधु की चिता की आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि एक बार फिर जिले के बनगांव थाना क्षेत्र से शादी समारोह के दौरान हुुुई हर्ष फायरिंग से एक युवक के मौत की बात सामने आ रही है।

दरअसल बीती रात अमित कुमार नामक युवक अपने दोस्त के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने बनगाँव थाना क्षेत्र के चैनपुर गांव पहुंचा जहां शादी समारोह के दौरान हर्ष फायरिंग में अमित को गोली लग गई। गोली लगने के बाद युवक को फ़ौरन अस्पताल पहुंचाया गया जहां चिकित्सक ने  उसे मृत घोषित कर दिया। देर रात घटना की जानकारी मिलते ही मृत युवक के परिजन मोहन ठाकुर घटनास्थल पर पहुंचे थे उन्होंने बताया कि अमित ने फ़ोन पर बताया था कि वह अपने दोस्तों के साथ बारात में शामिल होने चैनपुर गांव जा रहा है फिर देर रात खबर मिली की अमित को गोली लग गयी है।

Amit Kuamr killed in sahrsha marriage cermony
मृत युवक अमित की तस्वीर

Read Also : पटना में विवाह के दौरान राइफल से हर्ष फायरिंग में दुल्हन के भाई को लगी गोली, बेहद गंभीर हालत में अस्पताल भेजा गया,मची भगदड़

बहरहाल , घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस अस्पताल पहुंची और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम स्थल पर मौजूद चौकीदार ने भी बताया कि समारोह में शामिल होने चेनपुर गाँव  गया था। जिसकी गोली लगने से मौत हो गई। इस घटना के बाद पुलिस के तमाम दावों की पोल खुल गयी है।

Read Also : सहरसा के SP साहब देखिये इस वीडियो को- डांसर हत्याकांड में आप जिनको ढूढने रहे है वो थानेदार साफ साफ दिखाई दे रहे है…

बताते चलें की सहरसा में हाल में ही शादी समारोह के दौरान फायरिंग से डांसर मधु की मौत हो गयी थी । मामला सामने आने के बाद सहरसा से पटना तक हंगामा मचा था। हंगामे की गूंज जब पुलिस के आला अधिकारियों तक पहुंची तब प्रशासन ने फौरी कार्यवाई करते हुए थानेदार को ससपेंड कर दिया था और घटना में शामिल रहे आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का भरोसा दिया था साथ ही प्रशासन ने लोगों की भरोसा दिलाया था कि शादी के दौरान हर्ष फायरिंग नहीं होने दी जायेगी। लेकिन अब लगता है पुलिस के दावे सिर्फ मीडिया के कैमरो के लिए ही होते हैं। वास्तविक धरातल पर पुलिस की कार्यशैली सवालिया घेरे में हैं।

Loading...