बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

LJP में टूट के बाद चिराग पासवान से पहली बार मिलेंगे चाचा पशुपति पारस

540

पटना Live डेस्क। लोजपा में टूट के बाद केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस पहली बार भतीजे चिराग पासवान से पटना में मिलेंगे। पारस ने कहा है कि वे बड़े भाई दिवंगत रामविलास पासवान के बरखी को लेकर हो रहे आयोजन में शामिल होंगे। बता दें कि 12 सितंबर को बिहार के पटना में लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि है।


केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस ने कहा कि मैं कार्यक्रम में जाउंगा। रामविलास पासवान मेरे बड़े भाई और आदर्श थे। मैं उनका कर्ज़दार हूं। चिराग पासवान मुझे कार्ड नहीं देते तो भी मैं वहां पर जाता। वहीं उन्होंने कार्ड देने के सवाल पर कहा कि ये अच्छी शुरुआत है कि उन्होंने घर आकर कार्ड दिया।

बता दें कि लोजपा संस्थापक रामविलास पासवान के बरखी पर आयोजन होने वाले समारोह के लिए बिहार के नेताओं को चिराग पासवान आमंत्रण कार्ड दे रहे हैं। इस कार्ड पर केंद्रीय मंत्री पशुपति पारस और लोजपा सांसद प्रिंस राज का भी नाम है।लोजपा में पशुपति पारस ने चिराग पासवान को संसदीय दल के नेता, राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी संसदीय बोर्ड के चैयरमेन के पद से हटा दिया। हालांकि यह मामला अभी चुनाव आयोग के पास पेंडिंग हैं। लोजपा में हुई इस टूट के बाद पशुपति पारस मोदी कैबिनेट में शामिल हो गए।

वहीं इस मामले को लेकर पशुपति पारस ने कहा था कि चिराग पासवान मनमानी कर रहे थे। इसलिए पार्टी नेताओं को कहने पर उन्हें हटा दिया गया। इधर, चिराग पासवान का कहना था कि चाचा ने पार्टी संविधान के विरुद्ध जाकर काम किया है।

Comments are closed.