बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

मुजफ्फरपुर: कोई कहता है उसे गूगल गर्ल..तो किसी को भरोसा नहीं है उसकी प्रतिभा पर..जानिए कौन है ये दो साल की नन्ही बच्ची जिसे देख लोग चकित हैं

75

मनोज/मुजफ्फरपुर

पटना Live डेस्क. कहते हैं कि प्रतिभा उम्र की मोहताज नहीं होती. कोई उसे गूगल गर्ल कहकर बुलाता है तो कोई गूगल बेबी..हो भी क्यों न.. आखिर इस नन्ही सी बच्ची के अंदर प्रतिभा भी तो कूट-कूट कर भरी है.. इस दो साल की बच्ची को जन्म देने वाले माता-पिता भी हैरान हैं और अंदर ही अंदर गर्व महसूस कर रहे हैं. जरा इस दो साल की बच्ची प्रशस्तिका उर्फ गुनगुन की प्रतिभा पर गौर फरमाइए. शहर की राजधानी, गायत्री मंत्र, राष्ट्र गान, दोहे, कविताएं, प्रमुख नारे, पुस्तक और उसके लेखक का नाम तो उसे इस तरह याद है जैसे लगता है उसे इश्वर ने जन्म से ही उसके अंदर ये सब चीजें देकर भेजी हैं. जब लोग इसकी फर्राटेदार बातों को सुनते हैं तो सहसा उन्हें भरोसा नहीं होता कि भला खेलने की उम्र वाली ये बच्ची इतनी चीजें जानती कैसे है? प्रशस्तिका उर्फ गुनगुन की उम्र महज दो साल है लेकिन इसी उम्र में गुनगुन बड़े-बड़े को अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुकी है. मुजफ्फरपुर जिले के कोलवारा बड़कागांव के रहनेवाले डॉ सरोज और केंद्रीय विद्यालय की शिक्षिका प्रीति की इस नन्हीं से लाडली ने इस उम्र में ही उनका नाम रोशन कर दिया है. तभी तो राष्ट्रीय लोक सेवा समिति और प्रत्यूष किरण फाउंडेशन ने संयुक्त रुप से इस नन्हीं से बच्ची और उसके माता-पिता को सम्मानित करने का फैसला किया है.

गुनगुन के परिवार वाले भी उसकी प्रतिभा को देख फूले नहीं समा रहे. अपने नाना सुरेंद्र प्रसाद शाही के घर शैक्षणिक माहौल में पली-बढ़ी नन्हीं गुनगुन ने उनके संस्कारों को अपनाया है. घर में ही पढ़ाई के माहौल को गुनगुन ने कब अपना लिया यह उनके नाना के लिए भी किसी आश्चर्य से कम नहीं. नाना भी नन्हीं गुनगुन पर गर्व कर रहे हैं और कहते हैं कि उन्हें पता भी नहीं चला कि कब गुनगुन ने इतनी सारी चीजें सीख लीं और उसे याद भी कर लिया. फिलहाल गुनगुन जिले के ही एक प्रतिष्ठित निजी स्कूल में पढ़ाई कर रही है. वो अभी से ही नृत्य, गीत सहित स्कूल की सभी रचनात्मक गतिविधियों में हिस्सा लेती है और अपने किरदारों से सबको अचंभे में डाल देती है. उसे देखने और जानने वाले लोग हैरत में है और खुद से सवाल करते हैं कि आखिर उपर वाले ने इस नन्हीं सी जान को कैसे इतनी अद्भुत प्रतिभा से नवाजा है.

 

Comments are closed.