बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

जल्‍द कम होगा किराया ट्रेन का किराया, रेलवे ने लिया फैसला

203

पटना Live डेस्क। ट्रेन से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर है। कोरोना संकट के दौरान और उसके बाद यात्रियों की सुविधा के लिए भारतीय रेलवे स्‍पेशल ट्रेनें चला रहा है। ज्‍यादातर एक्‍सप्रेस और मेल ट्रेनें अब पटरी पर दौड़ रही हैं। लेकिन इसी बीच ये खबर है कि अब जल्दी ही स्पेशल ट्रेनों का संचालन बंद किया जा सकता है।
केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्‍णव ने ये संकेत दिया है कि जल्‍द ही इन स्‍पेशल ट्रेनों को बंद कर दिया जाएगा। स्‍पेशल ट्रेनों में यात्रियों को सामान्‍य ट्रेनों के मुकाबले 30 फीसदी ज्‍यादा किराया देना पड़ता है। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने एक मीडिया साक्षात्कार के दौरान कहा कि कोविड प्रोटोकॉल में रेलवे ने ट्रेनों को स्पेशल कैटेगरी में चलाने की शुरुआत की थी। इसका उद्देश्य ट्रेनों में भीड़ को नियंत्रित कर यात्रियों को सुविधा देना था। रेल मंत्री के अनुसार, फिलहाल 95 फीसदी मेल एक्सप्रेस ट्रेनें पटरी पर लौट चुकी हैं। आपको बता दें कि इनमें से करीब 25 फीसदी ट्रेनें स्पेशल कैटेगरी में चल रही हैं। दरअसल, स्पेशल ट्रेनों का किराया नॉर्मल ट्रेन से अधिक होता है। रेलवे ने पैसेंजर ट्रेनों में भी करीब 70 फीसदी ट्रेनों को मेल एक्सप्रेस का दर्जा दिया गया है। इनमें सफर करने के लिए मुसाफिरों को ज्‍यादा किराया चुकाना पड़ता है।
गौरतलब है कि भारतीय रेलवे ने कोरोना वायरस महामारी के पहले करीब 1700 मेल एक्सप्रेस ट्रेनें चलाती थीं। इनमें से ज्‍यादातर ट्रेनों को फिर से शुरू कर दिया गया है। और लगभग 3500 पैसेंजर ट्रेनें कोरोना संकट के पहले चलती थीं जिसमें 1000 पैसेंजर ट्रेनें ही चलाई जा रही हैं। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि अब रेलवे में कोविड के बाद उठाए गए कदमों को वापस लिया जाएगा। इससे रेल यात्रियों को बड़ा फायदा होगा। यानी इस ऐलान के बाद, उन्‍हें सामान्‍य ट्रेनों में सफर के लिए कम किराया चुकाना होगा। लेकिन आपको बता दें कि यात्रियों को सफर के दौरान अब भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

Comments are closed.