न राजा रतन सिंह, न रानी पद्मावती, भंसाली के ‘खिलजी’ ने लूटा दिल…देखें पद्मावती का ट्रेलर

पटना Live (मनोरंजन) डेस्क। भारतीय सिनेमा जगत में पर्दे पर भव्यता का अहसास और इतिहास के पन्नों में दफन किरदारों को चलचित्र के माध्यम से साकार रूप देने वाले निर्माता निर्देशक संजय लीला भंसाली फिर एक बार “पद्मावती” के जौहर के नये आयाम के साथ लेकर दर्शकों के सामने हाज़िर हुए है। यानी संजय लीली भंसाली की आगामी फिल्‍म ‘पद्मावती’ का ट्रेलर रिलीज कर दिया गया है। दर्शक बेसब्री से फिल्‍म के ट्रेलर का इंतजार कर रहे थे।

भंसाली ने एक बार फिर सिनेमा के पर्दे पर भव्‍यता से ऐतिहासिक गाथाओं को 70 एमएम के रुपहले पर्दे पर बखूबी उकेर दिया है। तलवारों के टकराव, रण-भूमि की रौनक यानी तलवारबाजी का कौशल, हाथियों की चिंघाड़ और घोड़ो की हिनहिनाहट को बड़े कैनवास पर साकार कर ऐतिहासिक रिवाजों की झलकियां और ऐतिहासिकता को पर्दे पर उतारा है। 3 मिनट के इस ट्रेलर में आपको कई ऐसी झलक देखने को मिलेगी,जिसे देख कर भंसाली की कला की तारीफ करने पर मजबूर हो जायेंगे।

राजा-रानी की कहानी में खलनायक खिलजी

फिल्‍म में दीपिका पादुकोण, रानी पद्मावती का किरदार निभा रही हैं। वहीं रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी के किरदार में दिखेंगे। शाहिद कपूर पद्मावती के पति राजा रावल रतन सिंह की भूमिका निभा रहे हैं।

अप्रितम सौंदर्य बतौर पद्मावती इस पहले ट्रेलर की शुरुआत में ही दीपिका पादुकोण का पद्मावती अवतार आपका मन मोह लेगा। शाहिद कपूर भी राजा रावल रतन सिंह के किरदार में जंच रहे हैं। वहीं फिल्‍म में नेगेटिव कैरेक्टर प्ले कर रहे रणवीर सिंह का खुंखार अंदाज आपको हैरान करेगा। उनके बाल बढ़े हुए नजर आ रहे हैं और उन्हें मांस खाते हुए और जंग लड़ते हुए दिखाया गया है।पूरे ट्रेलर में वे ओवर-शेडो करते दिख रहे हैं।

आँखों का वहशीपन

 

पूरे ट्रेलर में रणवीर सिंह का एक भी डायलॉग नहीं है, लेकिन अपनी आंखों और लुक से वे आकर्षित करते हैं।बातौर एक जंगजू,क्रूरता से लबरेज, मगरूर शहंशाह के तौर पर बिल्कुल मुफीद।

वहीं रानी पद्मावती और राजा रावल रतन सिंह राजपूतों की तारीफों के पुल बांध रहे हैं।शाहिद कहते हैं, चिंता को तलवार की नोंक पर रखे वो राजपूत, रेत की नांव लेकर समुद्र से शर्त लगाए वो राजपूत और जिसका सिर कटे फिर भी दुश्मन से लड़ता रहा वो राजपूत…’वहीं ट्रेलर के आखिर में दीपिका कहती हैं ‘राजपूती कंगन में उतनी ही ताकत है, जितनी राजपूती तलवार में…’