बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-दुःसाहस का चरम-मारपीट कर किया घायल,पुलिस को दी सूचना तो हत्यारे लौटकर आये कर दी हत्या

राजधानी में अपराधियों का दुःसाहस अपने अपने चरम है। खाकी का खौफ़ बिल्कुल खत्म सा हो गया है। पटना के फुलवारी शरीफ में मंगलवार देर रात विवाद में एक ट्रैक्टर ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। पुलिस ने एक आरोपी को दबोच लिया है।

499

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराधियों का तांडव लगातार जारी है। पुलिस महज दावों और बयानों तक सीमित रह गई हैं। सूबे में पूरी तरह बेलगाम हो चुके बदमाशों का कहर लगातार जारी है। इसी क्रम में राजधानी पटना के फुलवारी शरीफ से एक बड़ी घटना सामने आई है। थाना क्षेत्र के रानीपुर इलाके में आपसी विवाद में एक ट्रैक्टर ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। मृतक की पहचान 24 वर्षीय धर्मेंद्र कुमार के तौर पर हुई जो पटना जिले के ही दुल्हिन बाजार इलाके का रहने वाला था। हत्या के पीछे मामूली विवाद को कारण बताया जा रहा है। मकतूल ने विवाद की जानकारी स्थानिए थाना पुलिस को दी थी। लेकिन पुलिस से पहले हत्यारे आ धमके और …

पुुुलिस को दी सूचना आ धमके हत्यारे

मिली जानकारी के अनुसार जिस युवक की हत्या हुई,उसका नाम धर्मेंद्र कुमार था। मकतूल मूल रूप से पटना जिला के ही दुल्हिन बाजार क्षेत्र के नवादा गाँव का।रहने वाला था। धर्मेंद्र फुलवारी शरीफ के रानीपुर में रहकर निराला सिन्हा के यहाँ ट्रैक्टर ड्राइवरी का काम करता था। धर्मेंद्र को रहने में दिक्कत न हो, इसलिए निराला ने अपने घर के पास ही एक किराए की जगह उसे रहने के लिए दी थी।
जानकारी के अनुसार,ट्रैक्टर ड्राइवर मृतक धर्मेंद्र और गिरफ्तार आरोपी कुन्दन दोनों ही रानीपुर में उक्त किराए के मकान में रहते थे। हमेशा दोनों में वाद विवाद होता रहता था।दरअसल,बताया जाता है कि कुंदन,विकास और उसके ने साथी पिछले कुछ दिनों से धर्मेंद्र के ट्रैक्टर पर अमूमन चढ़कर हंगामा करते थे। धर्मेंद्र उन्हें रोकता तो वे विवाद करने लगते थे।

मंगलवार की देर रात एक बार फिर ट्रैक्टर पर चढ़कर सभी हंगामा करने लगे तो धर्मेंद्र में माना किया तो विवाद इतना बढ़ गया कि गिऱफ्तार युवक व उसके साथियो ने धर्मेंद्र,सुनील यादव और उसके एक अन्य साथी को पहले तो ज़मकर गालिया दी फिर लाटघूसों से जमकर पीटा फिर, हथियार के बट से घायल कर दिया और फरार छप गए। इस घटना के बाबत घायलों ने पुलिस को सूचना दी, लेकिन पुलिस तो नही आई पर घायलों द्वारा पुलिस को सूचना देने की जानकारी मिलते ही हमलावरो ने दुःसाहस का चरम पार करते हुए दोबारा घटना स्थल पर जा धमके और फिर इस बार उन्होंने कहर ही बरपा कर दिया।

दरअसल, इसबार अपराधी हरबे हथियार के संग पहुचे और धर्मेंद्र को ढूढने लगे। कमरे में धर्मेंद्र खाना खा रहा था, उसी दरम्यान हथियार लेकर पहुचे हमलावरों की उसपर नज़र पड़ी और फिर पिस्टल निकाल कर गोली चला दी। जो सीधे धर्मेंद्र के सीने में लगी। उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पिलुआ गिरफ्तार, मटरवा फरार

हत्या की जानकारी के बाद फुलवारीशरीफ पुलिस तुरंत मौके पर पहुची और फिलहाल, पुलिस ने हत्यारोपी कुंदन उर्फ पिलुआ को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया है।

थानाध्यक्ष राफिकुर रहमान ने बताया कि मामले में मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और हत्या में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया गया है। साथ ही दो लोगों को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वही,विकास उर्फ मटरवा मौके से फरार है जिसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है।

Comments are closed.