बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

गया: चर्चित आदित्य सचदेवा रोड रेज हत्याकांड में आज फैसले का दिन,परिजनों को न्याय की उम्मीद

229

पटना Live डेस्क. गया के चर्चित रोड रेज हत्याकांड में आज फैसले का दिन है. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हुई स्पीडी ट्रायल के जरिए हुई सुनवाई के बाद आज फैसला सुनाया जाएगा. इस हत्याकांड में गया के ही रहने वाले एक छात्र आदित्य सचदेवा की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. हत्या का आरोप तत्कालीन जेडीयू की विधानपार्षद मनोरमा देवी और पूर्व जिला पार्षद बिंदी यादव के पुत्र रॉकी यादव पर लगा था. इस मामले में रॉकी यादव का बॉडीगार्ड राजेश कुमार, रॉकी का चचेरा भाई टेनी यादव और रॉकी के पिता बिंदी यादव को साक्ष्य छुपाने का आरोपी बनाया गया है. फिलहाल रॉकी को छोड़कर सभी आरोपी जमानत पर हैं.

केस की पैरवी कर रहे लोक अभियोजक का कहना है कि गवाहों के मुकरने के बाद भी कई ऐसे साक्ष्य है जो आरोपी को सजा दिलाने के लिए काफी है. जबकि बचाव पक्ष के वकील की मानें तो केस के चश्मदीद ने आरोपी को पहचानने से इंकार कर दिया है और तकनीकी जांच में कई ऐसी खामियां हैं जिनके आधार पर उनके मुवक्किल को बरी किया जा सकता है. उधर, मृतक आदित्य सचदेव के पिता का कहना है कि उन्हें न्याय की मंदिर से रौशनी की उम्मीद है.

बता दें कि सात मई 2016 को आदित्य की हत्या उस समय हुई थी जब वह अपने दोस्त का बर्थडे मनाने के बाद कार से दोस्तों के साथ बोधगया से गया लौट रहा था. आदित्य का जुर्म बस इतना था कि रसूखदार माता-पिता का बेटा रॉकी यादव की लैंड रोवर गाड़ी उसने साइड नहीं दी थी.

घटनाक्रम

– 7 मई 2016 : आदित्य की हत्या
– 9 मई 2016 : चश्मदीद गवाहों का धारा 164 के तहत कोर्ट में बयान
– 9 मई 2016 : बिंदी यादव और बॉडीगार्ड राजेश कुमार की गिरफ्तारी
– 10 मई 2016 : राकेश रंजन यादव उर्फ रॉकी की गिरफ्तारी
– 17 मई 2016 : आरोपी राजीव कुमार उर्फ टेनी यादव का आत्मसमर्पण
– 21 नवंबर 2016 : अदालत में आरोप गठित

 

 

Comments are closed.