बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

विधायकों से पिटाई मामले में विधानसभा अध्यक्ष ने की कार्रवाई, नप गए दोषी पुलिसकर्मी

30

पटना Live डेस्क। बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के दौरान विपक्षी विधायकों के साथ मारपीट मामले में स्पीकर विजय सिन्हा ने बड़ी कार्रवाई की है। विधायकों से मारपीट मामले में दो पुलिसकर्मी पर कार्रवाई की गयी है। पिटाई करते हुए वायरल वीडियो में दिख रहे पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गयी है। जिसकी जानकारी स्पीकर विजय कुमार सिन्हा ने दी। उन्होंने कहा कि सिपाही शेषनाथ और रंजित कुमार तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। अभी पूरा मामले की जांच आचार समिति कर रही है।
बिहार विधानमंडल के मॉनसुन सत्र के पहले दो पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई होना एक बड़ी बात मानी जा रही है। जिसके संकेत स्पीकर ने पहले ही दे दी थी। तेजस्वी ने पिटाई मामले को लेकर अब तक की कार्रवाई को सार्वजनिक करने की बात कह पत्र लिखा था। उसके जवाब में स्पीकर ने साफ कहा था कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है। सुरक्षा से खिलावड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
वहीं स्पीकर ने यह भी कहा था कि पूरे मामले की जांच चल रही है। आचार समिति समेत कई एजेंसिंया इसकी जांच कर रही है। जैसे ही इनकी रिपोर्ट आएगी कार्रवाई जरूर की जाएगी। कोई भी दोषी बचेंगे नहीं। किसी भी माननीय के सम्मान के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बशर्ते माननीय भी अपनी गरिमा का ख्याल रखें।
बता दें कि बजट सत्र के दौरान पुलिस बिल को लेकर विपक्ष और सत्तापक्ष में संग्राम छिड़ गया था। सरकार बिल लाने पर अमादा थी जबकि विपक्ष इस बिल को नहीं पास करने देने पर अड़ा था। इस दौरान विपक्षी सदस्यों ने स्पीकर को उनके ही कार्यालय में घंटो बंधक बनाए ऱखा। उनके कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए थे।
धरने पर बैठे विपक्षी सदस्यों को हटाने को लेकर सदन में पुलिस बुलानी पड़ी थी। बल प्रयोग कर माननीयों को बाहर निकाला गया। इस दौरान कई विपक्षी सदस्यों को चोटें भी आयी थी। 23 मार्च को विधानसभा में विपक्षी सदस्यों के भारी हंगामे के बीच अध्यक्ष ने पटना डीएम-एसपी को बुला लिया था। इस दौरान सदन में पुलिस की इंट्री हुई थी। बाहर से आये अधिकारियों ने विपक्षी विधायकों की पिटाई की थी। वीडियो सामने आने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने जांच के आदेश दिये थे।

Comments are closed.