बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Exclusive (Video) प्रॉपर्टी डीलर की हत्या से मचे कोहराम के बीच पटना पुलिस के जांबाज दिन-दुनिया से बेख़बर जिप्सी में ही ग़ाफ़िल थे गहरी नींद में

53
  • Operation- जागते रहो की पहली किस्त 
  • अपराधियों के तांडव से कराहती राजधानी और अपनी मस्ती में ख़ाकीवाले 
  • पटनावासियों द्वारा लागतार पुलिस की करतूतों का विडियों किया जा रहा है साझा 
  • आप भी इस मुहिम का बने हिस्सा 

पटना Live डेस्क। वर्ष 2019 के आखरी महिनों में हंसराज रघुवंशी का गाया एक गाना अब भी धमाल मचा रहा है जिसके बोल है – आग लगे चाहे बस्ती में बाबा रहता है अपनी मस्ती में”। वैसे तो यह गाना रघुवंशी ने देवो के देेेव महादेव को समर्पित किया है। लेकिन इस गाने के बोल पटना की जांबाज पुलिस पर बिल्कुल मुफ़ीद और फिट बैठता है। राजधानी में बेख़ौफ़ अपराधियों का तांडव लगातार जारी है। सुरक्षित राजधानी के पुलिसिया तमाम दावों के उलट जिले में अपराध जगत के बन्दूकबाजो की बंदूकें लगातार शोले उगल रही है। खाकी से पूरी तरह बेख़ौफ़ हो चुके अपराधी न रात का अंधेरा देख रहे  है, न दिन का उजाला जब मर्जी तब दिनदहाडे सरेआम सरेशाम सैकड़ो लोगो के सामने भी गोलिया बरसाने से बाज़ नही आ रहे है। वही,पटना पुलिस महज वारदात के बाद मामला दर्ज कर आरोपी अपराधियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी के दावों तक सीमित नज़र आ रही है।

परिजन चित्कार कर रहे थे पुलिसवाले सो रहे थे 

पटना पुलिस के अजब गजब करतूतों व कारस्तानियों की लंबी फेरहस्ति है। लेकिन बुधवार को गौरीचक थाना के पुलिसवालो ने ग़ज़ब ही ढा दिया। दरअसल,थाना क्षेत्र में दिनदहाड़े हत्या से पुलिस महकमें में खलबली मच गई। लेकिन संवेदनहीनता का चरम पा करते हुए ख़ाकीवालो ने न मकान हासिल कर लिया। अपने स्वजन की हत्या से परिजनों के मार्मिक चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया माहौल में उत्तेजना और अफ़रातफ़री कायम हो गई। लेकिन पुलिसवाले तो ठहरे ख़ाकी वाले उन्हें क्या मतलब कोई जीए कोई मरे – मतलब साफ है – शानू की ?

वही, दूसरी तरफ ख़ाकीवाले जिप्सी में बड़े आराम से दिन दुनिया से बेखबर खर्राटे ले रहे थे। रात के अंधेरे में हाइवे पर सुपर एक्टिव रहने वाली गौरीचक थाने की पुलिस की कारस्तानियों का एक लंबा इतिहास रहा है। हाल ही थानेदार समेत कुल 3 लोग शराबी से रकम उगाही कर छोडने में नाप दिए गए है। खैर,

दरअसल, अपराधियों ने राजधानी से सटे गौरीचक में बुधवार को एक प्रॉपर्टी डीलर की गोली मारकर हत्या कर दी। मृतक गौरीचक थाना क्षेत्र के बीबीपुर गांव का था जिसका नाम धर्मेन्द्र यादव था। वही खुरेजी की वारदात के बाबत गौरीचक थाना के थानाध्यक्ष नागमणि ने बताया कि फिलहाल पुलिस हत्यारों की गिरफ्तारी को लेकर सघन छापेमारी कर रही है। इधर,आक्रोशित लोगों ने घटना को लेकर पुलिस के सामने ही नारेबाजी की। पुलिस ने इस मामले में गांव के ही तीन लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नालंदा मेडिकल कॉलेज भेज दिया।

लेकिन हद देखिए बेहद तनावपूर्ण माहौल में सैकड़ों लोगों के साथ गौरीचक थाना की पुलिस शव को लेकर NMCH पहुँची। लेकिन प्रॉपर्टी डीलर की हत्या से मचे कोहराम के बीच पटना पुलिस के जांबाज पुलिस जिप्सी में ही दिन-दुनिया से बेख़बर गहरी नींद में ग़ाफ़िल हो गई।

सबसे बड़ा सवाल – क्या ये करेंगे सुरक्षा 
पटना के एसएसपी उपेन्द्र शर्मा लगातार सुरक्षति राजधानी की बात करते है। खुद भी सड़क पर उतर कर अपराधो के अनुसंधान में महती भूमिका निभा रहे है। पर उनके मातहत ख़ाकीवाले अपनी करतूतों से महकमे की इज्ज़त आबरू की धज़्ज़िया उड़ा रहे है। अब आप ही तय करिये क्या पटना Live की यह मुहिम – Opration जागते रहो जरूरी है या नही ?

मुहिम जारी है …. आप भी करे सहयोग ताकि बेहतर प्रयासों को न लग सके पलीता 

Comments are closed.