बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

बिहार उपचुनाव के लिए थम गया चुनाव प्रचार का शोर, 30 अक्टूबर को वोटिंग

100

पटना Live डेस्क। बिहार उपचुनाव के प्रचार का शोर थम गया। अब से 72 घंटे बाद मुंगेर के तारापुर और दरभंगा के कुशेश्वरस्थान में वोट डाले जाएंगे। जिसकी सारी तैयारी पूरी कर ली गयी है। दोनों ही सीटों पर एनडीए, आरजेडी-कांग्रेस के प्रत्याशी के बीच कांटे की टक्कर होने की संभावना जतायी जा रही है। तारापुर से आरजेडी ने अरूण शाह, जेडीयू ने राजीव सिंह और कांग्रेस ने राजेश मिश्रा पर दांव लगाया है। जबकि दरंभगा के कुशेश्वरस्थान से आरजेडी के गणेश भारती, जेडीयू के अमन भूषण हजारी तो कांग्रेस के अतिरेक कुमार के बीच कांटे की टक्कर होने की बात कही जा रही है।
30 अक्टूबर को दोनों जगहों पर वोटिंग होगी। जिसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कुशेश्वरस्थान में 310 बूथों पर वोट डाले जाएंगे, तारापुर में मतदान के लिए 406 बूथ बनाए गए है। दोनों ही सीटों पर करीब 5 लाख मतदाता वोट करेंगे। ईवीएम के द्वारा सभी मतदान केन्द्रों पर वोटिंग करायी जाएगी। चुनाव प्रचार का शोर थमते ही कल से जनप्रतिनिधि डोर-टू-डोर जनसंपर्क अभियान चलाएंगे।
चुनाव प्रचार के अंतिम दिन दोनों ही जगहों पर लालू, नीतीश, तेजस्वी समेत कांग्रेस के नेताओं ने धुंआधार प्रचार किया। तारापुर और कुशेश्वरस्थान में लालू यादव ने पार्टी प्रत्याशियों के लिए चुनाव प्रचार किया। दोनों ही जगहों पर भारी भीड़ लालू यादव को सुनने और देखने के लिए उमड़ी। अपने पुराने अंदाज में राजद सुप्रीमो ने राज्य और केन्द्र सरकार पर हमला बोला। जिसे सुनकर लोगों ने खूब ताली बजायी।
दरभंगा के कुशेश्वरस्थान के झझरा गांव में आयोजित सभा में लालू यादव ने कहा कि बेईमानी का हिसाब करने का समय आ गया है अब हिसाब करेंगे। उन्होंने कहा कि नीतीश सुन लो, पूरे बिहार की जनता ने तेजस्वी यादव का बना दिया था मुख्यमंत्री। हर जाति धर्म के लोगों ने वोट किया था। हमको तो इ लोग जेल में भिजवा दिया था कि लालू यादव निकले नहीं, तले हम मार दें बाजी। लेकिन, हमारा तेजस्वी यादव ने घूम-घूमघूमकर आपको जगाया। हमारे जीते प्रत्याशियों को हराया गया।अब बेईमानी का हिसाब करेंगे।

Comments are closed.