BiG News – पुलवामा आत्मघाती आतंकी हमले में “मसौढी का महावीर सपूत” भी शहीद, 8 फरवरी को छुट्टियां खत्म कर जम्मू कश्मीर तैनाती पर विदा हुए थे संजय कुमार सिन्हा

173

#शहीद संजय कुमार CRPF की 176वी बटालियन में हेड कॉन्स्टेबल थे।

# 8 फरवरी को ही अपनी छुट्टी खत्म कर संजय जम्मू कश्मीर अपनी बटालियन में लौटे थे

#अभी तक परिवार को नही मिली है आधिकारिक जानकारी, फ़ोन पर रिश्तेदार को दी गई सूचना

पटना Live डेस्क। जम्मू कश्मरी में अबतक के सबसे बड़े आतंकी हमले मे 44 जवानों की शहादत ने देश को झकझोर कर रख दिया है। पूरा देश अपने वीर जवानों की शहादत से मर्माहत है। पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के अब तक 44 जवान शहीद हो चुके हैं। जो देश के विभिन्न राज्यो के रहने वाले थे। कर्तव्य की बलि वेदी पर प्राणों को न्योछवार करने वाले में बिहार के लाल भी शामिल है। मिली जानकारी के अनुसार बिहार के 2 सपूत भी शहीद हो गए है।

शहीद हेड कांस्टेबल संजय कुमार सिन्हा 

शहीद होने वाले में बिहार की राजधानी पटना से चंद किलोमीटर दूर तारेगना डीह के मूल निवासी संजय कुमार सिंहा भी शामिल है। पटना जिले के  रहने वाले जवान संजय कुमार सिंह इस आत्मघाती आतंकी हमले  में शहीद हो गए हैं।                                

संजय की शहादत की जानकारी मिलतेे ही परिवार में मातम  पसर गया है। मूल रूप से पटना जिले के गांव तरेगना डीह के निवासी संजय पिता महेंद्र प्रसाद सीआरपीएफ की 176वीं बटालियन में तैनात थे। संजय बतौर हेड कांस्टेबल के देश की सेवा कर रहे थे।मिली जानकारी के अनुसार शहीद संजय 8 फरवरी को ही अपनी छुट्टी पूरी कर परिजनों से विदा लेकर जम्मू कश्मीर में तैनात अपनी 176वी बटालियन में तैनाती पर गए थे।                                                 

शहीद संजय अपने पीछे पत्नी बबीता देवी, दो बेटियां रूबी कुमारी और टुन्नी कुमारी के अलावा एक बेटा सोनू कुमार छोड़ गए है। परिवारवालों को फिलहाल अधिकारिक तौर पर खबर नहीं मिली है। परिजनों के मुताबिक गुरुवार की शाम चार बजे संजय के बहनोई और नालंदा जिले के परवलपुर के रहने वाले जितेंद्र के मोबाइल पर सीआरपीएफ के अफसरों ने फोन कर घटना की जानकारी दी। इसके बाद परिजनों को जानकारी मिली। संजय की शहादत की खबर मिलते ही गांव वालों की भीड़ उनके घर पर जमा हो गयी।

Loading...