BiG News – सवर्ण सेना ने फूंका पीएम मोदी और सीएम नीतीश का पुतला निजी क्षेत्र में आरक्षण और नीति आयोग द्वारा उम्र सीमा 27 साल करने के विरुद्ध  

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में कारगिल चौक पर निजी क्षेत्र में आरक्षण और नीति आयोग द्वारा सामान्य वर्ग ख़ातिर 30वर्ष की समय सीमा को 27साल निर्धारित करने के विरोध में सवर्ण सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुमीत सरकार के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार का पुतला फुक कर विरोध दर्ज कराया गया। साथ ही केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और बिहार सरकार के मुखिया नीतीश कुमार को स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी गई।  सामान्य वर्ग के साथ किये जा रहे अन्याय नही रुके और सामान्य वर्ग के साथ जारी दोयम दर्जे के सलूक को तत्काल प्रभाव से खत्म नही किया गया तो सवर्ण सेना सामान्य वर्ग के हितों की रक्षा ख़ातिर बेहद मुखर आंदोलन को और तेज किया जायेगा। साथ ही चरणबद्ध तरीके से सरकार की नीतियों के विरोध को देशव्यापी परिपेक्ष्य में आंदोलन को करो मरो की तर्ज पर आगे बढ़ाया जाएगा।
पटना के कारगिल चौक पर पीएम और सीएम कुमार के पुतला दहन कार्यक्रम को पीयूष भूमि, गौतम शर्मा,नितेश सिंह,हर्ष कुमार सिंह और सरोज कुमार समेत सवर्ण सेना के सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद रहे। पुतला दहन के दौरान सवर्ण सेना के सदस्यों के चेहरे पर रोष कि अभिव्यक्ति साफ साफ दिखाई दे रही थी।                              
वही, सवर्ण सेना प्रमुख सुमीत सरकार ने मीडिया को बताया की नीतीश कुमार के द्वारा निजी क्षेत्र में लागू किये गए आरक्षण की वजह से सूबे में इनवेस्टमेंट करने को इक्छुक और इंडस्ट्री सेटअप करने   की तैयारी कर रही कई कम्पनियों ने बिहार आने परहेज कर लिया है बल्कि दूसरे राज्यो की ओर रुख कर लिया है। दरअसल, निजी क्षेत्र को महज मजदूर की नही उस दिमाग की भी आवश्यकता है जो तकनीक के संग कदमताल कर सके।                        
लेकिन बिहार सरकार के अव्यवहारिक निर्णय की वजह से सूबे में फ़ैक्ट्री या इंडस्ट्री लगने की तमाम संभवना पर न केवल ग्रहण लग गया है बल्कि निकट भविष्य में कोई सम्भवना भी नही है। इसके बावजूद बिहार सरकार अभी भी नही चेती तो सवर्ण सेना अपने आन्दोलन की व्यापकता को बढ़ाते हुए आंदोलन को तीव्र कर देगा।
वही, सवर्ण सेना से जुड़े गौतम शर्मा ने बताया की नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार अभी भी  अगर हम सवर्णो के हित मे कार्य नही करेंगे तो आनेवाले दिनो मे सवर्ण के हितों की रक्षा और अधिकारों ख़ातिर जोरदार तरीक़े से आंदोलन को आगाज दिया जाएगा।

Loading...