बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News(वीडियो) युवा उम्मीद ने भरी सियासी हुँकार,संटी दीक्षित ने सैकड़ो साथियों संग थामा पप्पू यादव का हाथ

राजधानी के चर्चित युवा सामाजिक कार्यकर्ता व युवाओं के बीच बेहद लोकप्रिय सन्नी कुमार उर्फ संटी दीक्षित ने पप्पू यादव के दल की सदस्यता ग्रहण कर की सियासत में एंट्री

876

- Advertisement -

पटना Live डेस्क। वर्त्तमान दौर मे जब पूरे देश मे पुराने ढर्रे की सियासत अपना वजूद खो रही है और युवा वर्ग उम्मीद का नया सबेरा लाने में मुतमइन नज़र आ रहा है। बिहार में भी युवा जोश राजनीति के पटल पर अपनी जोरदार और धारदार उपस्थिति दर्ज कराता दिखाई दे रहा है।इसी कड़ी में राजधानी पटना के कदमकुआं थाना क्षेत्र के काजीपुर क्वाटर्स निवासी सामाजिक रूप से प्रखर व बेहद सशक्त जनसरोकार से जुड़े कार्यो में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने वाले मृदुभाषी सामजिक कार्यकर्ता सन्नी कुमार उर्फ संटी दीक्षित ने सूबे की सियासी पटल पर अपनी पहली दस्तक दे दी है।

दरअसल सामाजिक और जनहित से जुड़े मुद्दों के प्रखर पहरुआ संटी दीक्षित लंबे समय से अपने युवा साथियों संग आम लोगो व समाज के हर वर्ग के दुःख दर्द में अपनी सहभागिता दर्ज कराते रहे हैं। वर्त्तमान दौर में जब Corona वायरस के कहर से आम भारतीय को सुरक्षित करने की कवायद के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब अचानक पूरे देश मे कंप्लीट Lockdown लागू किया तो संटी ने अपने साथियों के संग आपसी सहयोग के जरिए 65 दिनों तक गरीब गुरबों जिनके सामने रोटी का संकट खड़ा हो गया को राजेन्द्र नगर के वैशाली गोलंबर पर दो वक्त न केवल खाने की व्यवस्था की बल्कि रैनबसेरों और इलाके में  बीमार व लाचारों को फ़ूड पैकेट का वितरण किया और कराया। साथ ही उनके ईलाज की भी यथाशक्ति प्रबंध किया।

- Advertisement -

दरअसल, सामाजिक रूप से बेहद एक्टिव संटी के साथ शहर के विभिन्न या यूं कहें कि सभी क्षेत्रों के सैकड़ो-हजारों ऐसे युवा जुड़े हुए है जो जनसरोकार और जनहित के कार्यक्रमों में न केवल स्वेच्छा से शारीरिक और मानसिक रूप से सहयोग करते है बल्कि सदैव जनसेवा को तैयार रहते है।

राजधानी में प्राकृतिक विपदा हो या फिर मानव जनित समस्या संटी के नेतृत्व में युवाओं की यह टोली सदैव सेवाभाव से ओतप्रोत होकर आमलोगो की सेवा में जुट जाती है।इस का फलाफ़ल यह हुआ कि समाज के प्रबुद्ध लोगो ने संटी को लगातार इस बात ख़ातिर प्रेरित किया कि तुम किसी सियासी मंच से जुड़ कर अपने सेेेवा भाव को बड़े पैमाने पर जारी रखने का प्रयास करो। लगातार मिल रहे सलाह और आग्रह को संटी ने पहले तो तवज्जो नही दी पर,जब समाजिक आग्रह लागतार जारी रहा तो फिर अपने मन मुताबिक जनता के लिए सदैव सेवा भाव से तत्पर रहने वाले सही सियासी संगठन की तलाश शुरू की गई। उद्देश्य एक ही था मानव सेवा और जनकल्याण की अदम्य लालसा।

लंबे समय तक Pसोच विचार और तमाम तरह के मूल्यांकन के बाद आखिरकार संटी व उसके साथियों ने वर्त्तमान दौर में बिहार की सियासत के सबसे चर्चित बाढ-सुखाड़ हो यह कोई भी आपदा जनसरोकार व जनहित के सरमाया बनकर जनकल्याण के सबसे सशक्त हस्ताक्षर बने राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के सानिध्य सियासी पटल पर Pजनसेवा को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया। फैसला कर लेने के बाद संटी ने सैकड़ो युवा साथियों और सैकड़ों वाहनों के काफिले के साथ राजधानी के मंदिरी स्थित राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के आवास सह जन अधिकार पार्टी लोकतांत्रिक के कार्यालय पहुचकर न केवल सियासत से जुड़ने का आशीर्वाद लिया बल्कि सैकड़ो युवा साथियों संग दल की सस्यता ग्रहण किया।

अपने चहेते साथी संटी दीक्षित के सियासी जीवन की शुरुआती का साक्षी बनने ख़ातिर पटना के कोने कोने से सैकड़ो युवक अपने दो पहिया और चार पहिया वाहनों से जब मंदिरी पहुचे तो सैकड़ो वाहनों के उक्त काफिले को देखकर मोहल्लेवाले भी निहार ने लगे। संटी के सदस्यता ग्रहण कार्यक्रम में शामिल होने ख़ातिर वाहनों के क़ाफिले और युवा साथियों के गगन भेदी उदगार ने उनकी स्वीकार्यता को बड़े पैमाने पर प्रदर्शित किया है।

- Advertisement -

Comments are closed.