बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-गोपालगंज के राजद नेता बाहुबली सुरेश चौधरी को अपराधियों ने घर कर बाहर मारी ताबड़तोड 3 गोलिया, गोरखपुर रेफर

सुरेश चौधरी की पहचान अपराध जगत से जुड़े शख्स की है। अपराधियों की ओर से की गई फायरिंग में सुरेश के सीने में तीन गोलियां लगी हैं। गोपालगंज सदर अस्पताल के डॉक्टरों ने प्रारंभिक जांच करने के बाद सुरेश चौधरी को मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया है।

502

पटना Live डेस्क। बिहार में अपराधी बेखौफ हैं। वे राजनेताओं तक को निशाना बनाने से बाज नहीं आ रहे हैं। अब गोपालगंज जिले में सुरेश चौधरी को अपराधियों ने गुरुवार तड़के गोली मार दी। सुरेश चौधरी मॉर्निंग वॉक के लिए घर से निकल रहे थे उसी दौरान बाइक सवार बदमाशों ने उन्हें गोली मारी। अस्पताल में भर्ती सुरेश चौधरी की हालत गंभीर बताई जा रही है। 

गोपालगंज के राजद नेता व  जरायम की दुनिया के नामवर और वर्त्तमान में राजद की सियासत से जुड़े नगर थाना के कुकुरभुखा गांव निवासी कुख्यात सुरेश चौधरी गुरुवार की सुबह अपने घर के सामने टहल रहे थे, तभी बाइक सवार एक अपराधी ने उनपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।जिससे वो गंभीर रुप से घायल हो गए।पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है। नगर थानाध्यक्ष प्रशांत कुमार के मुताबिक गोली लगने की सूचना है।मामले की छानबीन की जा रही है।

घरवालों ने स्थानीय लोगों की मदद से उनको सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया, जहां उनकी नाजुक हालत को देखते हुए गोरखपुर रेफर कर दिया गया है। सदर अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक डॉ. मुकेश कुमार के मुताबिक सुरेश को तीन गोलियां लगी हैं। उन्‍हें एक गोली सीने में और दो गोली कंधे में लगी है।

पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार तिवारी ने बताया कि इस घटना की जांच की जा रही है। वारदात कैसे हुई पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर जांच कर रही है। इलाके लोग बताते हैं कि सुरेश चौधरी करीब दो दशक से अपराध जगत से जुड़े हैं।

सुरेश के खिलाफ कई गंभीर मुकदमे दर्ज हैं। ट्रिपल मर्डर और इंस्पेक्टर को गोली मारने समेत कई आपराधिक मामलों में जेल भी जा चुके हैं। सुरेश यादव पर हजियापुर निवासी गिरीश सिंह हत्याकांड, सासामुसा निवासी मुन्ना सिंह हत्याकांड, माडनपुर निवासी बलराम सिंह हत्याकांड सहित एक दर्जन मामले दर्ज हैं। कुछ मामलों में यह बरी हो चुका है। तीन साल पहले यह जेल से जमानत पर रिहा हुआ। इसके बाद इसके खिलाफ कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं हुआ है।

बता दें कि जेल से बाहर निकलने के बाद से  सुरेश यादव खुद को राजद नेता बताता रहा था। एक बार नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव के मंच पर सुरेश के चढ़ जाने से काफी हंगामा हुआ था। साथ ही एक सेल्फी भी जमकर वायरल हुई थी।

तत्‍कालीन राजद जिलाध्‍यक्ष ने कह दिया था कि सुरेश यादव पार्टी से नहीं जुड़ा है। हालांकि इसके बाद भी राजद के कई कार्यक्रमों में वह सक्रिय रहता था।

 

 

 

 

 

Comments are closed.