Follow-Up – रवि राय हत्याकांड के तार बेउर जेल से जुड़े, कुख्यात का चकराम निवासी शागिर्द एसआईटी के राडार पर,घर से है फरार

510

पटना Live डेस्क। राजधानी में सोमवार की अहले सुबह मॉर्निंग वॉक कर घर लौट रहे रवि राय उर्फ गोपजी को बाइक सवार अपराधियों ताबड़तोड़ 4 गोलियां मार कर हत्या कर दी और फरार हो गए। मक़तूल मंदिरी निवासी कुख्यात रवि राय की हत्या के मामले में पुलिस ने दो लोगों को बाइक के साथ हिरासत में लिया है। एसआइटी उनसे गहन पूछताछ कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक घटनास्थल और उसके आसपास लगे सीसीटीवी की फुटेज में इन दोनों की तस्वीर बाइक के साथ कैद हो गई थी। घटना से पहले और बाद में दोनों पल्सर बाइक पर सवार थे। यही नहीं, इन दोनों ने रवि से बात भी की थी।

आते जाते वक्त रवि से बात करने की हुई तस्दीक

सोमवार की सुबह जब रवि किदवईपुरी पार्क में टहलने जा रहा था, उस वक्त और वहां से वापस लौटते वक्त भी इन दोनों ने उससे सड़क पर बात की थी। जितनी देर रवि पार्क के अंदर टहल रहा था, उतनी देर दोनों सड़क पर ही चहलकदमी करते दिखे हैं। पुलिस को शक है कि ये दोनों रवि राय की हत्या में लाइनर की भूमिका में शामिल थे। दोनों को चकारम इलाके से हिरासत में लिया गया है। पुलिसिया सूत्रों पर यकीन करें तो पूछताछ में इन दोनों ने काफी महत्वपूर्ण जानकारियां और सुराग दिए हैं। हत्या की वजह क्या थी, इसके पीछे कौन लोग थे, किसने साजिश रची, इनसे मिली जानकारी के आधार पर पुलिस रवि राय हत्या मामले की गुत्थी सुलझाने में जुट गई है। दोनों से मिले इनपुट के आधार पर पुलिस इस कांड में शामिल अन्य अपराधियों को दबोचने के लिए विभिन्न इलाकों और ठिकानों पर छापेमारी कर रही है।

बेउरजेल से जुड़ रहे तार, 5 की अहम भूमिका

सोमवार की अहले सुबह साढ़े पांच बजे मंदिरी निवासी कुख्यात रवि राय को बाइक सवार अपराधियों ने उस वक्त गोलियों से छलनी कर दिया था। जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गई थी। उसके शरीर पर गोलियों के 4 निशान मिले थे। वारदात को अंजाम देकर बदमाश हथियार लहराते चकारम की ओर भाग निकले थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक एक बाइक पर तीन और एक पर दो लोग सवार थे। जिस बाइक पर तीन लोग थे, उसपर पीछे बैठे दोनों अपराधियों ने ही गोली मारी थी। दोनों के हाथ में पिस्टल थी, जबकि एक पल्सर बाइक पर सवार दो लोग घटना के पहले और बाद में वहां मंडरा रहे थे। उन्हें ही पुलिस ने मंगलवार को चकारम इलाके से उसी पल्सर बाइक के साथ हिरासत में लिया है।

रवि की हत्या के बाद पुलिस जांच टीम को सीसीटीवी से अहम सुराग मिले।दरअसल ,रवि ज़मीन कारोबार से जुड़ा था। जिसको लेकर उसकी अदावत बेउर जेल में कुख्यात दुर्गेश शर्मा से कई मौकों पर बकझक हो गई थी। हत्या के पीछे की वजह के तौर पर जमीन विवाद और जेल में हुई दुश्मनी सामने आ रही है। पुलिस के शक की सुई बेउर जेल में बंद दुर्गेश शर्मा पर घूम रही है।

यही वजह है कि उसके बेहद करीबी दुःसाहसी शागिर्द भेंगा के चकारम स्थित घर पर छापेमारी पुलिस ने दबिश दी है। हालांकि, वह हाथ नहीं लगा। साथ ही पुलिस उसके वर्त्तमान नंबर का कॉल डिटेल्स भी निकलवा चुकी है साथ ही घटना के वक्त उसका मोबाइल लोकेशन भी घटना स्थल के इर्द गिर्द होने का दावा सूत्रों द्वारा किया ज रहा है। पुलिस टीम ने भेंगा के घरवालो को उसे हाजिर करने के फरमान सुना दिया है।साथ ही लोकल मुखबिरों को भी भेंगा के बाबत सतर्क कर दिया गया है।

उम्मीद जताई जा रही है कि अगले कुछ घंटों में पुलिस द्वारा रवि राय मर्डर मिस्ट्री का सफल उद्भेदन कर लाइनर समेत सभी 5 अपराधियों को गिरफ्तार कर लेगी।

Loading...