बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

कोई पूछ रहा साली का हाल, कोई गैस का नंबर,परेशान रेल हेल्पलाइन के कर्मचारी

4

पटना लाइव डेस्क.  का जी सालीजी..भूल गईं का हमको..सर पांच दिन पहले सिलेंडर का नंबर लगाए थे..आजतक नहीं मिला..तो कोई कह रहा सर प्लीज डीटीएच रिचार्ज करने के लिए आपको रुपए दिया था..आपने रिचार्ज क्यों नहीं कराया..चौंकिए मत..ये सारी फोन कॉल्स हैं जो आ रही हैं यात्रियों की सुविधा के लिए शुरू किये गये पूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर रेल मंडल अंतर्गत आरपीएफ कंट्रोल रूम के हेल्पलाइन में. कोई अपनी घर की समस्या बता रहा है..तो कोई अपने संबंधों को लेकर परेशान है… तो कोई अपने घर के बढ़े हुए बिजली बिल से. इस कॉल सेंटर में फोन अटेंड करने वाले कर्मचारी परेशान हैं कि आखिर इनका क्या उपाय हो. सरकार ने तो हेल्पलाइन नंबर रेल यात्रियों की सुविधा के लिए जारी किया है फिर इस नंबर पर ये कॉल कैसे आ रहे हैं. कॉल अटेंड करने वाले पुलिसकर्मी कहते हैं कि इससे जरुरतमंदों को सहायता देने में उन्हें परेशानी आ रही है और समय पर उन्हें सुविधा नहीं मिल पा रही है.

दरअसल इस नंबर पर संपर्क करने पर आरपीएफकर्मी तत्काल परेशान यात्रियों की मदद करते हैं. यात्रियों की ट्रेन में चोरी, महिला यात्रियों से छेड़खानी सहित दूसरी शिकायतों पर आरपीएफ तुरंत कार्रवाई करती है. समस्तीपुर रेल मंडल में रोजाना तीन सौ से अधिक कॉल को अटेंड किया जाता है. साथ ही पीड़ित यात्रियों की परेशानी दूर करने के लिए संबंधित विभागों को तुरंत जानकारी दी जाती है. हालांकि इस कॉल सेंटर में काम करने वाले कर्मचारी इस तरीके के फोन कॉल्स के परेशान हैं लेकिन लोगों में जागरुकता बढ़ाने के लिए उऩ्हें बार-बार समझाया भी जा रहा है.

Comments are closed.