बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

महंत नरेंद्र गिरी की मौत पर उठ रहे सवाल, हत्या की जताई जा रही आशंका

520

पटना Live डेस्क। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी का सोमवार को निधन हो गया। संदिग्ध हालत में उनकी लाश मिली। यह हत्या या फिर आत्महत्या फिलहाल इसको लेकर जांच की जा रही है। लेकिन पुलिस प्राथमिक जांच में कई चौंकाने वाले रहस्य सामने आ रहे हैं। अब इस मामले में एक और हैरान करने वाली बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि जिस रस्सी के फंदे से महंत का शव लटका मिला था,उस रस्सी को उन्होंने एक दिन पहले ही अपने सेवकों के द्वारा बाजार से मंगवाया था। सेवकों ने जब रस्सी खरीदने की वजह पूछी तो महंत ने कहा कि कपड़े सुखाना हैं।


बता दें की पुरे मामले की जांच अभी पुलिस कर रही है। फॉरेंसिक टीम ने उस रस्सी को अपने कब्जे में लिया है। जिस पर महंत नरेंद्र गिरी का शव लटका मिला था। शिष्यों ने बताया कि वह इस रस्सी को एक दिन पहले पास की एक दुकान से खरीदकर लाए थे। पुलिस ने रस्सी पर मौजदू अंगुलियों के निशान के सैंपल भी सबूत के तौर पर एकत्र कर लिए हैं।


साथ ही इस पुरे मामले पर वैदिक धर्म गुरु पं वेद मूर्ति शास्त्री का कहना है कि महन्त नरेन्द्र गिरी की हत्या हुई है ये आत्महत्या का मामला बिलकुल नहीं है। इसपर जांच होना बेहद जरूरी है।

Comments are closed.