बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-बाली उमर की आशिकी में लड़की-लड़के की संदिग्ध हालातो में गई जान,परिजनों ने आननफानन शवो को जलाया आखिर क्यों?

वार्ड पार्षद 46 की बेटी और पड़ोस में रहने वाले युवक के बीच 7-8 से था प्रेमप्रसंग,मोहब्बत पर भारी जाती की दीवार और जला दिया गया दोनो का शव

881

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के बहादुरपुर थाना क्षेत्र के संदलपुर इलाके में रविवार की सुबह मोहब्बत में नृशस हत्या के मामले के खुलासे से जारी हंगामा और प्रदर्शन अभी शान्त भी नही हुआ है कि अगमकुआं थाना अंतर्गत बाली उमर की  मोहब्बत का त्रासद अंत हुआ है। जिसे परिजनों ने छुपाने की पुरजोर कोशिश की है। लेकिन पटना Live ने विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी पर जब अपनी तहकीकात शुरू करते हुए जनता फ्लैट की गलियों को खंगाला तो इंटर की छात्रा की मौत और  फिर पड़ोस में रहने वाले एक युवक की भी मौत का मामला बेहद संदिग्ध प्रतीत हुआ।

वही, दूसरी तरफ स्थानिए अगमकुआं थाने को पाषर्द परिवार द्वारा दिया गया लिखित आवेदन भी बेहद भ्रामक जानकारी वाला जान पड़ता है। वही, थानाक्षेत्र में एक नही बल्कि 2-2 कथित आत्महत्या के मामले में पुलिस की घोर लापरवाही भी मामले के गड़बड़ या संदिग्ध होने की हामी भर रही है। दोनो के शवो का परिजनों ने क्रमशः अंतिम संस्कार कर दिया और पुलिस मूक दर्शक बनी रह गई। यह अपने आप मे बड़ा सवाल खड़ा करता है?

बाली उमर का जानलेवा इश्क

पटना Live टीम को बुधवार को तकरीबन साढ़े चार बजे के आसपास पटना के एक वार्ड पार्षद की इंटर में पढ़ने वाली बेटी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की जानकारी मिली।जब हमने इस खबर की सत्यता की जांच शुरू की गई तो पता चला कि पटना के वार्ड पार्षद 46 की पार्षद पूनम शर्मा के जनता फ्लैट निवास पर उनकी बेटी ने खुदकुशी कर ली है। मकतूल लड़की इंटरमीडिएट की छात्रा थी और फरवरी 2021 में होने वाले BSEB की 12वीं की परीक्षा देने की तैयारी कर रही थी। लेकिन अचानक बुधवार की शाम को  पार्षद पूनम शर्मा केपरिवार ने उसके खुदकुशी कर लेने की जानकारी अगमकुआं थाने को दी। 

Demo Pic

लेकिन,इस मामले के संदिग्ध होने की जो सबसे बड़ी वजह है वो ये हैं की बतौर जनप्रतिनिधि पूनम शर्मा के परिवार ने अपनी बिटिया के अचानक ख़ुदकुशी (जैसे कि उनका दावा है।) के बाद बिना पुलिसिया प्रक्रिया अपनाए उसका दाह संस्कार क्यो कर दिया? अपनी बिटिया के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार के बाद आखिर क्यों पुलिस को जानकारी दी यह भी बड़ा सवाल है? जैसे पता चला है कि पार्षद पति सनोज ठाकुर द्वारा अपनी लाडली बिटिया की असमय मृत्यु के बाबत पुलिस को।महज जानकारी साझा की गई है,अबतक मामला दर्ज नही कराया है। आखिर क्यों ? 

इसी बीच महज घंटे भर में वार्ड पार्षद परिवार के जनता फ्लैट स्थित आवास से महज चार घर की दूरी पर वर्षो से रहने वाले लक्ष्मी साव के परिवार में भी एक लड़के की मौत की खबर आई। लड़के के बाबत बताया गया कि उसने भी अचानक खुदकुशी कर ली है।लेकिन लड़के के परिजनों ने भी बिल्कुल  ठीक वैसी ही लापरवाही की पुलिस को बिना इत्तला किए ही मकतूल के शव का अंतिम संस्कार कर दिया है।वही, हद तो ये की परिजन ने स्थानिए पुलिस को इसकी जानकारी भी नही दी है। 

लेकिन महज,घंटे भर से भी कम वक्त में एक ही मोहल्ले या यूं कहें कि बगलगीर दोनो घरों में एक युवती और युवक ने कथित तौर पर खुदकुशी करली और पुलिस को बिना बताए दोनो परिवारों ने शवों का अंतिम संस्कार कर दिया। लेकिन कहते है न इश्क और मुश्क छिपाए नही छुपता है। ठीक ऐसा ही हुआ और एक लड़की व एक लड़के की संदिग्ध खुदकुशी के मामले की जानकारी मीडिया तक पहुच ही गई।

बाली उमर का इश्क और जातपात की दीवार

जब पटना Live रिपोर्टर ने जनता फ्लैट्स पहुचकर मामले का सच जानने की कोशिश की तो पूरे मोहल्ले के मातमी सन्नाटे में होने की स्थित से दोचार होना पड़ा। कोई भी कुछ भी कहने और बताने को राजी नही हुआ।एक अजीब सी खामोशी सभी के ज़ुबान पर थी। वही पार्षद परिवार के निवास से कोई भी बाहर नहीं आया।

वही,बहुत कुरेदने पर अपना नाम नही छापने की शर्त पर ऑफ दी कैमरा मोहल्ले के युवाओं ने बताया कि दोनो लड़के और लड़की मे लगभग 6-7 साल से दोस्ती थी। दोनो एक दूसरे से जी जान से मोहब्बत करते थे।लेकिन जात-पात की दीवार दोनों के बीच दीवार बन गई थी। दोनों एक दूसरे के साथ जीना चाहते थे पर साथ छूटने की बारी आई तो पहले लड़की की मौत की खबर आई और फिर लड़की की मौत की खबर के चंद समय बाद लड़के के भी मौत की जानकारी मिली। लेकिन परिजनों द्वारा दोनो का आननफानन में अंतिम संस्कार कर दिया गया है। पर पहले कौन मरा और कैसे मरा के सवाल पर कोई स्पष्ट जानकारी नही दे पाया।

वही, अगमकुआं थाना पुलिस से जब मामले के बाबत जानकारी ली गई तो बताया गया कि वार्ड नंबर 46 की पार्षद पूनम शर्मा परिवार की ओर से जानकारी देते हुए घटना के बाबत बताया गया कि मकतूल लड़की इंटर की परीक्षा देने वाली थी उसने फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

लेकिन जिस तरह आननफानन में पार्षद परिवार ने बिटिया की मौत के बाद शव का अंतिम संस्कार किया और फिर वही काम लड़के के परिवार ने किया इसको लेकर इलाके में न केवल मामले के संदिग्ध होने या फिर फॉल प्ले होने की चर्चा जोर पकड़ रही है। तो वही दूसरी तरह अगमकुआं थाना पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठ रहे है।

Comments are closed.