BiG News – प्रियंका गांधी बहुत सुंदर हैं पर कॉंग्रेस गलतफहमी में है,कांग्रेस समझ ले कि सुंदर चेहरे पर वोट नहीं मिलता है- बिहार सरकार के मंत्री का बेतुका बयान

#बिहार सरकार  के मंत्री ने कहा कि प्रियंका गांधी बहुत सुंदर पर इससे वोट नहीं मिलते

#मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि प्रियंका भ्रष्‍टाचार के आरोपी राबर्ट वाड्रा की पत्‍नी

पटना Live डेस्क। कॉंग्रेसियों की बहुप्रतीक्षित मांग को स्वीकार करते हुए आख़िरकार कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी वाड्रा को बातौर महासचिव सियासी रणभूमि में उतार दिया है। वही एकओर जहां कॉंग्रेस समेत तमाम विपक्षी दलों की प्रतिक्रिया बेहद उत्साह जनक रही है। वही दूसरी तरफ प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय राजनीति में उतरने के ऐलान के बाद अब देशभर में बयानबाजी का दौर तेज हो गया है।

             इसी कड़ी में बिहार सरकार में मंत्री विनोद नारायण झा ने कहा कि वोट खूबसूरत चेहरों के आधार पर हासिल नहीं किए जाते हैं। उन्‍होंने कहा कि प्रियंका गांधी राबर्ट वाड्रा की पत्‍नी हैं जो जमीन घोटाले और भ्रष्‍टाचार से जुड़े कई मामलों में आरोपी हैं। झा ने कहा, ‘वोट खूबसूरत चेहरों के आधार पर नहीं मिलते हैं। इसके अलावा वह राबर्ट वाड्रा की पत्‍नी हैं जिन पर जमीन घोटाले तथा भ्रष्‍टाचार के कई मामलों में शामिल होने का आरोप है। वह बहुत सुंदर हैं लेकिन इससे उलट उनकी कोई राजनीतिक उपलब्धि नहीं है।’ उधर, बिहार के डेप्‍युटी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि यह फैसला यूपी में एसपी-बीएसपी को धमकाने के लिए कांग्रेस ने लिया है क्‍योंकि उन्‍होंने कांग्रेस पार्टी को गठबंधन से अलग कर दिया है।

                                       

‘प्रियंका गांधी अपने पति राबर्ट वाड्रा की प्रतिनिधि’
सुशील मोदी ने कहा कि प्रियंका गांधी अपने पति राबर्ट वाड्रा के प्रतिनिधि के रूप में राजनीति में प्रवेश कर रही हैं। यह अच्‍छा ही है क्‍योंकि इससे वाड्रा का मामला चर्चा में आएगा। इससे पहले जेडीयू के उपाध्‍यक्ष प्रशांत किशोर ने प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने का स्‍वागत किया था।                                  उन्‍होंने कहा कि प्रियंका गांधी के सक्रिय राजनीति में आने की लंबे समय से प्रतीक्षा थी। पीके ने कहा कि लोग उनके आने के समय, वास्‍तविक भूमिका और पोजिशन पर बहस करेंगे लेकिन असली खबर उनका राजनीति में आना है। उन्‍होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस एक मजबूत प्रतिद्वंदी नहीं है और असली लड़ाई बीजेपी और महागठबंधन के बीच होगी।

बता दें कि कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने अपनी बहन प्रियंका गांधी को महासचिव बनाया है और उन्‍हें पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की जिम्‍मेदारी दी है। पूर्वी यूपी बीजेपी का गढ़ है। प्रियंका गांधी का सक्रिय राजनीति में आना और उन्‍हें पूर्वी उत्‍तर प्रदेश की कमान दिया जाना कांग्रेस का मास्‍टर स्‍ट्रोक माना जा रहा है।