बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive (वीडियो) हर बार यही अपराध करता हूँ वर्दीवाला हूँ डरा कर जबतब उगाही कर लेता हूँ,देखिए

103
  • एक सितंबर 2019 से लागू ट्रैफिक नियमो के नाम पर रात के अंधेरे में भी उगाही
  • पहले हज़ारों के फाइन का दिखाते है डर फिर वसूलते है रकम 
  • May I Help You बूथों से जारी है खेल 

पटना Live डेस्क। राजधानी की सड़कों पर बड़े जोर शोर पटना पुलिस के ट्रैफिक विंग ने नये मोटर वाहन कानून के मुताबिक ट्रैफिक नियम तोड़नेवालों पर फाइन काटने का अभियान चला रखा है।दरअसल,एक सितंबर 2019 से नये मोटर वाहन कानून लागू होने के बाद ट्रैफिक नियम तोड़ने वालों पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस ने जांच अभियान चला रखा है। जो बदस्तूर बेखटक रातदिन राजधानी की सड़कों पर जारी है।

राजधानी में जगह-जगह पर नये नियम के मुताबिक जुर्माने की राशि वसूली जाने का अभियान जारी है। जारी अभियान का असर भी पटना में देखने को मिल रहा है क्योकि नये नियम के तहत करीब दस गुना जुर्माने की राशि बढ़ाये जाने के बाद शुरुआत में पूरे देश मे और राजधानी पटना की सड़कों पर जमकर बवाल भी हुआ। लेकिन बीतते समय के साथ पुनः मुसको भवः के हालात बन गए है जबकि अभियान अब भी जारी है।

दरअसल,बिहार परिवहन विभाग ने एक सितंबर 2019 महिने में नए नियमो के तहत अभियान की शुरुआत करते हुए बताया था कि सूबे में “बिहार में मात्र 38 प्रतिशत लोग ही हेलमेट लगाते हैं”। इसे बढ़ाने की जरूरत है। इसके लिए पटना में भी हेलमेट चेकिंग पर विशेष जोर दिया जा रहा हैं।अभियान जारी है। पटना की सडको पर ट्रैफिक पुलिस अमूमन नज़र आती है। वाहन चेकिंग भी करती है लेकिन हालात बदल गए है और एक बार फिर ट्रैफ़िक पुलिस की झक्क सफेद वर्दी पर गुलाबी, नारंगी और ग्रेग्रीन रंग(नए नोटों के कलर) का असर दिखने लगा है। यह महज एक कयास या आरोप नही बल्कि इस हकीक़त जान और पढ़ लीजिए।

BiG News (वीडियो) गैंगरेप पीड़िता पर सितम आरोपियों पर रहम पटना पुलिस ये घिनौना जुर्म न कर,रहने दे अभी थोड़ा सा भरम

दरअसल,यह वाकया गुरुवार की रात साढे आठ बजे का जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का काफिला कुछ देर पहले ही गुजरा था। युवक अपने एक दोस्त के साथ एन पी सेंटर से खरीदारी कर अपनी बजाज की “विक्रांत” नामक बाइक से बहादुरपुर स्थित अपने घर जा रहा था। जैसे युवक की बाइक एक्जिबिशन रोड चौराहे पर पहुची अचानक एक शख्स ने रुकने का इशारा किया वर्दी के उपर जैकेट पहने था। उसने गाड़ी के पेपर मांगे युवक ने तमाम पेपर दिखाए तो देखने के बाद बोला ठीक है हेलमेट कहा है ? चुकी युवक ने हेलमेट नही पहना था उसने कहा 1000 रुपये का फाइन लगेगा। चलो हजार रुपये निकालो और रसीद लेलो तब बाइक चला रहे युवक बोला सब पैसे का खरीदारी कर लिए है पैसा नही रसीद काट दीजिये हम कल जमा कर देंगे।

तब उक्त सिपाही ने चौराहे पर स्थित May I Help You बूथ में लेकर गया। बूथ के अंदर बैठे अन्य पुलिसकर्मियों में से एक को उक्त सिपाही ने सर कहते हुए बताया कि हेलमेट नही पहने है और पैसा भी नही है इनके पास। तब युवक और अन्य पुलिसवालों के बीच थोड़ी देर बहसबाजी के बाद बूथ में बैठे उस पुलिसवाले ने कहा कि – हम कुछ नही जानते है इनको गांधीमैदान ट्रैफिक थाना लेते जाओ, इनको जो नियम बतियाया है वही समझ बुझ लेगा लोग। फिर युवक और उसका दोस्त बोला ठीक है। चलिए थाने।

फिर युवक और उसके दोस्त के साथ वह वर्दी वाला भी बाइक पर ही बैठकर गांधी मैदान थाने की ओर चलपडे। इसी बीच वह सिपाही बोला काहे के लिए थाना जाओगे हजार डेढ़ हजार का फाइन लगेगा। तुम देखने मे शरीफ लग रहे हो तबतक बाइक लेमन ट्री होटल तक पहुच गए थे। सिपाही ने बाइक रोकने को बोला और फिर क्या हुआ कैसे उगाही हुई खुद देख देखिए …

Comments are closed.