बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News ( Super Exclusive) हुजूर आपकी पुलिस झूठी,मक्कार,फरेबी और क़ातिल भी है,खाकी की करतूत का Live सुबूत

174
  • DGP साहब!आपकी पुलिस की कारवाई को गलत बता रहे ग्रामीण और सरपंच
  • CCTV फुटेज में दिख रहा, अहले 3 बजे सुबह में घर से उठाकर ले गई थी पुलिस टीम
  • बेगुनाह बेटे को अपराधी बना दिया गया तो पिता भूखे प्यासे लाठिया खाते वैशाली SP से लेकर तिरहुत IG और DIG के दफ्तर तक दौड़ते रह गए
  • और फिर खाकी वालों की करतूत से मर्माहत पिता बेटे के जेल जाने और अपराधी बनने के गम में ‘हार्टअटैक’ से मर गए

पटना Live डेस्क। ये खून खून है टपका है तो कैसे छुपेगी सच्चाई ? राहुल समेत 3 को लूट की योजना बनाते हथियार के साथ गिरफ्तार करने की दर्ज हुई FIR….बेटे को बेगुनाह साबित करने को राहुल के पिता प्रभात सिंह वैशाली SP से लेकर तिरहुत IG और DIG के दफ्तर तक गए….क्योंकि प्रभात सिंह को यकिन था की उनका बेटा राहुल कुमार बेगुनाह है….जिस दिन राहुल को पुलिस ले गई थी, उसी दिन से प्रभात सिंह ने खाना-पानी छोड़ दिया था…और बेटे के जेल जाने के ठीक 1 माह बाद प्रभात सिंह के सांसो की डोर हार्ट अटैक से बेटे के वियोग में टुट गई…पुरा मामला वैशाली जिला के देसरी थाना अन्तर्गत सहदेई बुजुर्ग ओपी के फतेहपुर बुजुर्ग गाँव का है….

स्थानीय चकजमाल पंचायत के सरपंच अतुल कुमार सिंह समेत फतेहपुर बुजुर्ग गाँव के ग्रामीण CCTV फुटेज दिखाते हुए कहते हैं की ओपी अध्यक्ष एजाज आलम,प्रभारी देसरी थानाध्यक्ष और महनार SDPO के साथ 8 मार्च की अहले सुबह दल-बल के साथ करीब 3 बजे प्रभात सिंह के घर पहुचते हैं….जहाँ से उनके बेटे राहुल कुमार को ले जाते हैं…राहुल को गिरफ्तार किये जाने पर जब प्रभात सिंह ने पुलिस से पुछा तो बताया गया की सहदेई बुजुर्ग बाजार स्थित उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक लूट में यह शामिल था….जबकी देसरी थाना में सहदेई बुजुर्ग ओपी अध्यक्ष एजाज आलम के बयान पर राहुल कुमार,सुमित कुमार और गोविंद कुमार की गिरफ्तारी का जो FIR देसरी थाना कांड संख्या 49/2020 जो दर्ज किया गया उसमें बताया गया की गुप्त सूचना के आधार पर चकजमाल पंचायत के चोरवा बगीचा से लूट की योजना बनाते गिरफ्तार किया गया….मृतक प्रभात सिंह को दो पुत्र होने के बाबजूद मुखाग्नी देने के इंतजार में मौत के 24 घंटों बाद तक घर पर रहा शव….क्योंकि बड़ा बेटा राहुल हाजीपुर मंडल कारा में बंद है तो दुसरा छोटा बेटा दिल्ली रहता है…पिता के मौत के 24 घंटा बाद छोटा बेटा जब घर पहुचा तब दाह-संस्कार के लिए घर से घाट को गया शव…

Comments are closed.