ब्रेकिंग (Exclusive) गुंजन खेमका हत्याकांड में पुलिस ने कुख्यात मस्तु वर्मा उर्फ अभिषेक कुमार को साथी संग किया गिरफ़्तार

पटना Live डेस्क।राजधानी पटना से सटे हाजीपुर के औद्योगिक परिसर में 20 दिसंबर को कत्ल कर दिए गए युवा व्यवसाई सह भाजपा नेता गुंजन खेमका मर्डर केस में लगभग दो माह बाद पुलिस का दावा है कि कुख्यात अपराधी मस्तु वर्मा उर्फ अभिषेक वर्मा और उसके एक अन्य अपराधी साथी ने मिलकर रंगदारी खातिर गुंजन खेमका की हत्या की थी। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों नवनियुक्त डीजीपी बिहार गुप्तेश्वर पांडेय ने दावा किया था कि जल्द हो गुंजन खेमका हत्याकांड में बड़ा खुलासा होगा साथ ही साथ पुलिस शामिल अपराधियों को जल्द ही गिरफ्तार कर लेगी।
अपने डीजीपी के दावे को सही साबित करते हुए गुंजन खेमका हत्याकाण्ड की जांच कर रही पुलिस टीम ने पटना पुलिस के मुखबिर रहे मस्तु वर्मा को उसके एक अन्य साथी के संग धर दबोचा है। वही गिरफ्तार मस्तु के बाबत सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार उसने अपना गुनाह कबुल कर लिया है।

कौन है मस्तु वर्मा ?

पटना पुलिस के अंडरवर्ल्ड के मुखबिर नेटवर्क का बेहद सक्रिय सदस्य रहा मस्तु वर्मा बेहद शातिर अपराधी रहा है। मस्तु के विरुद्ध पटना समेत आसपास के इलाकों में दर्ज है हत्या समेत कई आपराधिक मामले दर्ज है। वर्ष 2008 में कदमकुआं इलाके में बिल्कुल गुंजन खेमका हत्याकांड की तरह से ही एक बड़े व्यवसायी की गोली मारकर हत्याकाण्ड में भी मस्तु ने की संलिप्तता मिली है। एक ममलके मे बताया जाता है कि अभिषेक वर्मा उर्फ मस्तु वर्मा के विरुद्ध सीबीआई ने भी चार्जशीट किया हुआ है।                                      इसकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस सूत्रों का दावा है कि ज़मीन कारोबार से जुड़े मकतूल गुंजन खेमका हत्याकांड में कई सफेदपोश भी लपेटे में आ सकते है। दरअसल यह पूरा मामला रंगदारी और सुपारी हत्याकांड का नतीजा बताया जा रहा है।