बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Phulwari Sharif in PFI Case|बिहार में 4 जगहों फुलवारी शरीफ, दरभंगा,मोतिहारी और किशनगंज में NIA की रेड

फुलवारी शरीफ मामले में उग्रवादी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े होने के सिलसिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) आज सुबह से बिहार में कई जगहों पर छापेमारी

697

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के फुलवारी शरीफ में पीएफआई टेरर मॉड्यूल मामले में एनआईए की टीमें गुरुवार सुबह सबेरे पटना के फुलवारी शरीफ समेत सूबे  के कई जिलों में छापेमारी करने पहुंचीं। एनआईए ने राजधानी पटना मोतिहारी, दरभंगा, किशनगंज, नालंदा में अलग-अलग जगहों पर दबिश दी। इस दौरान फुलवारीशरीफ में आतंकी कैंप के आरोपियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई। एनआईए ने आरोपियों के परिजन, रिश्तेदारों एवं आसपास के लोगों से पूछताछ की और उनकी गतिविधियों के बारे में जानकारी ली। अभी तक छापेमारी में किसी भी गिरफ्तारी की बात सामने नहीं आई है।

पूर्वी चंपारण जिले के चकिया में गुरुवार सुबह एनआईए की टीम भारी संख्या में सुरक्षाबलों के साथ पहुंची। यहां रेयाज मॉरूफ के कुंअवा वार्ड नंबर 13 स्थित घर पर छापेमारी की। रेयाज पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया का राज्य सचिव है। दरभंगा  उर्दू बाजार स्थित पीएफआई वकील नूरुद्दीन जंगी के घर पर एनआईए ने छापा मारा है। साथ ही मोहम्मद मुस्तकीम और सनाउल्लाह के घर पर भी एनआईए की टीम ने दबिश दी है।

वही, राजधानी पटना के फुलवारी शरीफ में आतंकी मॉडल के खुलासे होने के बाद एनआईए की टीम गुरुवार की सुबह सबेरे फुलवारी शरीफ पहुंची। एनआईए की टीम में शामिल दर्जनभर सदस्य शामिल बताए जा रहे हैं। फुलवारी शरीफ के गुलिस्तान मोहल्ला रईस कॉलोनी स्थित प्रतिबंधित सिमी का सदस्य रहा अतहर परवेज के घर एनआईए की टीम छापेमारी कर रही है।

                  गौरतलब हो कि फुलवारी शरीफ के नया टोला स्थित झारखंड सरकार सब इंस्पेक्टर जलालुद्दीन खान के मकान अहमद पैलेस मैं अतहर परवेज किराए पर लेकर पीएफआई और एसडीपीआई की आड़ में पटना और बिहार के विभिन्न जिलों से भोले भाले मुस्लिम युवाओं को देश विरोधी गतिविधियों में शामिल कराकर उन्हें भटकाव की राह पर ले जाने का काम कर रहा था। पिछले दिनों हुई छापेमारी में यहां से काफी मात्रा में देश विरोधी पंपलेट मिशन 2047 भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने का बुकलेट एवं विदेशी फंडिंग समेत भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्रियां बरामद की गई थी। बता दें कि गिरफ्तार अतहर परवेज सिमी के पूर्व सदस्यों को एकजुट कर पीएफआई और एसडीपीआई की आड़ में नया आतंकी संगठन खड़ा कर रहा था।

         वर्त्तमान में अतहर परवेज, रिटायर सब इंसपेक्टर जलालुद्दीन खान, अरमान मलिक, एडवोकेट नूरुद्दीन के साथ जेल में बंद है। पुलिस इन लोगों को रिमांड पर लेकर पूछताछ भी कर चुकी है। पुलिस को पूछताछ में कई अहम खुलासे हुए हैं। वही अतहर के आतंकी नेटवर्क में देश विरोधी गतिविधियां संचालित करने के आरोपों के बारे में पुख्ता साक्ष्य मिलने के बाद पूरा मामला को एनआईए सौंपा गया है।

 

                  वही गुरुवार की सुबह सुबह करीब 6:30 बजे एनआईए की टीम पटना के फुलवारी शरीफ के गुलिस्तान मोहल्ला पहुंची। आसपास के लोगों ने बताया कि एक बस में सवार होकर एनआईए की टीम पहुंची थी। अतहर परवेज के आवास गुलिस्तां मोहल्ला के पास बस से जांच एजेंसी के सदस्य उतरे और सीधे अतहर परवेज के घर चले गए। एनआईए की इस छापेमारी के दौरान भारी संख्या में पुलिस फोर्स को आसपास के इलाके में लगाया गया है। वहां अभी किसी को जाने की इजाजत नहीं है। हालांकि जिस गली में अतहर परवेज का घर है उस गली में कई दूसरे लोगों का भी घर है ,जिन्हें आने जाने से सुरक्षाकर्मी रोक-टोक नहीं कर रहे हैं। फुलवारी में एनआईए की छापेमारी को लेकर अफरा-तफरी का माहौल है।

गुलिस्तान मोहल्ला और आसपास के इलाके में अतहर प्रवेज के घर एनआईए की हो रही छापेमारी के बारे में लोग कई तरह की चर्चा कर रहे हैं। लोगों की दिमाग में बस एक ही बात चल रही है कि अब एनआईए की टीम को यहां क्या कुछ मिल पाता है और आगे ईस मामले में और किन-किन लोगों के घर एनआईए की टीम दबिश देगी। इसे लेकर इस पूरे प्रकरण में गिरफ्तार अन्य लोगों के परिवार वालों में भी हड़कंप मचा हुआ है।

Comments are closed.