बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Breaking-पटना में 8वीं कक्षा में पढ़ने वाली 2 छात्राए हुई लापता अज्ञात ने फ़ोन कर कहा आखरी बार कर लो बेटी से बात

पटना के लोदीपुर इलाके की रहने वाली 2 नाबालिक लडकिया स्कूल गई लेकिन देर शाम तक दोनों जब घर नही लौटी तो परिजनों ने उनकी तलाश में जुटे इसी बीच एक अनजान नंबर से आए एक कॉल ने परिजनों को भयभीत कर दिया और परिजन गांधी मैदान थाने पहुचे और आवेदन दिया पर न तो FIR दर्ज किया गया ना ही अबतक लापता बच्चियों का कुछ भी अतापता चल पाया है।

381

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के पीरबहोर थाना क्षेत्र (Pirbhor Police Station) से एक तीन साल (3 Years Old Girl Kidnapped In Patna) की बच्ची का अपहरण और फिर 16 दिन बाद इसी जुलाई महीने की 8 तारीख़ को बरामदगी का मामला अभी पटनावासियो जेहन से ओझल भी नही हुआ है कि एक बार फिर से एक नही बल्कि दो दो नाबालिक छात्रों के एक साथ लापता होने की खबर सामने आई हैं। दोनों बच्चिया एक साथ स्कूल गई पर घर वापस नही लौटी है। अपनी बच्चियों के लापता होने से हलकान परिजन अभी अपनी बच्चियों की तलाश में जुटे थे इसी बीच एक अनजान नंबर से आए एक फ़ोन कॉल ने उनके होश उड़ा दिए। दरअसल, फ़ोन करने वाले ने धमकाने वाले लहजे में कहा कि आख़री बार अपनी बेटी से बात करलो जब यह बातें वह कह रहा था तो बकौल परिजनों के पीछे से बच्चियों के चीखने चिल्लाने की आवाज आ रही थी।

फ़ोन आने के बाद डरे सहमे परिजन गांधी मैदान थाने पहुचे और मामले की लिखित जानकारी देकर अपनी बच्चियों को ढूढने की गुहार लगाई। लेकिन थाने में उनका आवेदन लेकर कहा गया कि देखते है। लेकिन घटना के घंटे बीत जाने के बाद भी न तो थाना द्वारा न तो मामला दर्ज किया गया है ना ही उक्त नंबर के जरिए बच्चियों की तलाश की कवायद शुरू की गई है।इधर, परिजन अनहोनी की आशंका से सहमे हुए है।

स्कूल गई पर वापस नही लौटी 

लापता हुई दोनों छात्रों के परिजन ने बताया कि प्रतिदिन की तरह उनकी बेटियां सुहानी और अनुष्का जो गोलघर हल्दी अपार्टमेंट के बगल वाली गली की रहने वाली है एक साथ 27 जुलाई को भी अपने स्कूल राजकीय उच्च विद्यालय बाँकीपुर गई थी। अमूमन दोनों सहेलियों छुट्टी के बाद क्रमशः साढ़े तीन तक घर लौट आया करती थी,लेकिन बुधवार को शाम 5 बजे तक नही लौटी तो हलकान परिजन तलाश में जुटे इसी बीच लोदीपुर बुद्ध मार्ग में अपने परिवार के साथ रहने वाली छात्रा सुहानी कुमारीं के भाई के मोबाइल नंबर पर एक अनजान नंबर (7970*816**) से 5 बजकर 30 मिनट पर एक काल आई और बकौल परिजनों के धमकी भरे लहजे में कहा गया कि लो आखरी बार अपनी बेटी से बात कर लो जब वो शख्स बात कर रहा था पीछे से चीख़ने चिल्लाने की आवाज आ रही थी। इस कॉल के बाद घबराए परिजन गांधी मैदान थाना पहुचे और लिखित शिकायत दी। 

पटना पुलिस का लापरवाह रवैया जारी 

घटना 27 जुलाई की है परिजनों ने लिखित शिकायत  भी गांधी मैदान थाने को दी है लेकिन खोजने की बात तो छोड़िए बकौल पीड़ित परिजनों के पुलिस ने आवेदन पर मामला तक दर्ज नही किया है। घटना से डरे सहमे बच्चियों के परिजन अपनी बच्चियों की तलाश में न केवल भटक रहे है बल्कि धमकी देने वाले नंबर पर कॉल कर के थक चुके क्योकि वो लगातार बंद है।

Comments are closed.