बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-पटना के इन अस्पतालों में अपने इलाज़ का खर्च खुद उठाये और Covid-19 संक्रमण का ईलाज कराए,देखिए लिस्ट

निजी अस्पताल में ईलाज का खर्च कोरोना पेशेन्ट को ही चुकाना होगा, इन सभी अस्पतालों को पूर्व से निर्धारित फीस पर ही ईलाज करना है हालांकि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार में आमतौर पर कितना खर्च आएगा।

2,242

पटना Live डेस्क। कोरोना के कहर से सूबे में संक्रमितों की बेहद तेजी से बढ़ती सख्या और सरकारी अस्पतालों की बदइंतजामी और संसाधनो के बावजूद घोर व कई मामलों में घातक लापरवाही के ताबड़तोड़ खुलासे के बाद अब बिहार सरकार ने बड़ा फैसला किया है।सूबे में बढ़ते कोविड-19 के प्रकोप और कारोना संक्रमण से कराहते आम आदमी के इलाज़ खातिर सुशासन सरकार ने बिहार में पहली बार 18 निजी अस्पतालों में भी कोरोना का इलाज करने का आदेश पारित किया है। जो तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

18 निजी अस्पतालों को मिली जिम्मेदारी

रविवार को पटना के सिविल सर्जन ने पहले तो महज 2 बड़े अस्पतालों पारस अस्पताल और रूबन मेमोरियल अस्पताल को पत्र द्वारा सूचित किया कि अपने यहां के कम से कम 25 बेड को कोविड-19 मरीजों के लिए सुरक्षित रखें। साथ ही कोरोना संक्रमितों के इलाज को शुरू करने का भी अनुरोध सह आदेश दिया। लेकिन, सोमवार को कोरोना संक्रमितों की ताबड़तोड़ बढ़ती संख्या को देखते हुए इन 2 निजी अस्पतालों सहित कुल राजधानी के कुल 18 निजी अस्पतालों को कोरोना संक्रमितों का भी ईलाज करने का आदेश पटना के सिविल सर्जन ने जारी कर दिया है।

जो तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। यानी उक्त 18 अस्पतालों को कोरोना संक्रमितों को भर्ती कर उनका इलाज करना ही होगा।

अपने इलाज़ का खर्च होगा खुद उठाना

जिन 18 निजी अस्पतालों को कोरोना संक्रमितों के ईलाज की अनुमति दी गई है हालांकि प्राइवेट अस्पतालों में लोगों का मुफ्त में उपचार नहीं होगा। जारी आदेश में यह साफ साफ लिखा है कि – जो मरीज अपने खर्च पर ईलाज को तैयार होगा उसी मरीज को निजी अस्पताल को दिया जाएगा।”

आदेश में लिखा गया है कि इन सभी अस्पतालों को पूर्व से निर्धारित फीस पर ही कोरोना पेशेन्ट का ईलाज करना है हालांकि अभी यह तय नहीं हो पाया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के उपचार में आमतौर पर कितना खर्च आएगा? लेकिन इस विषय पर जिला प्रशासन अस्पताल संचालकों के साथ बातचीत कर रहा है। ताकि न्यूनतम खर्च पर मरीजों का उपचार हो सके।

पीएमसीएच में इस सप्ताह से ही इलाज

पीएमसीएच में पटना के कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज किया जाना है। यहां इसको लेकर तेजी से राजेंद्र सर्जिकल ब्लाॅक में 100 बेड का आइसोलेशन सेंटर तैयार किया जा रहा है। ज्यादातर काम हो चुके हैं और उम्मीद की जा रही है कि मंगलवार या बुधवार से इसे शुरू कर दिया जायेगा।इसमें करीब 20 बेड आइसीयू के बनाये गये हैं और हर बेड पर आक्सीजन की सुविधा रहेगी। यहां अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस बेड लगाये जाने की सूचना है।इसके बाद यहां भी कोविड 19 के मरीजों का इलाज शुरू हो जायेगा।

Comments are closed.