बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive (Audio) कुख्यात विकास के फरारी मामले में सबसे बड़ा खुलासा- सिपाही सौरभ को जाना दिल्ली पर वो चला गया कही और ..खुद उसके जुबानीं सुनिए

76

पटना Live डेस्क। हम नही सुधरेंगें चाहे कितनी बार लगातार बारम्बार लानत मलानत होती हो या सस्पेंड होना पड़े। यह महज एक कवाहत नही है बल्कि बिहार के खाकीवालो का वो स्याह पक्ष है जिसका विस्फोट पूरे महकमे को न केवल शर्मशाम करता है बल्कि देश भर में हंसी का पात्र बना देता है।खैर, ताजा प्रकरण में पुलिस वालों ने न केवल जमकर ऐय्याशी की है,बल्कि नियम कानूनों की धज़्ज़िया उड़ाते हुए एक सजायाफ्त कैदी को कोर्ट में पेशी के नाम पर होटल में “ऐय्याशी” का हर वो लुफ्त उठाने का सशुल्क मौक़ा दिया। हद तो ये की यह पहली बार नही था जब दिल्ली की तीसहजारी कोर्ट में कुख्यात को पेशी के दौरान ऐय्याशी का मौका दिया गया पर कहते है न कि पाप का घड़ा फूटता है वही हुआ उम्रकैद का सज़ावार खाना लेने निकला तो फिर वो नही लौटा ही नही। फिर शुरू हुई साज़िशफेरिया, सच छुपाने की झुठी कहानिया को महकमे को सुनाई गई, लेकिन सच तो सच है…..आइए सुनाते और बताते है परत दर परत पैसे की रेलमपेल के बीच ख़ाकीवाले की नियम कानून की धज़्ज़िया उड़ाने का पूरा सच .. आप जान ही चुके है। अगर नही तो इस लिंक को क्लिक करे ..

Super Exclusive (ऑडियो) सुरा,सुंदरी और होटल का कमरा,नशे में धुत्त पुलिसदस्ता फिर साज़िशें, झूठी कहानियां,परत दर परत सज़ावार कैदी के फरार होने का सच …. और कश्मीरी गेट से मुनिरका

दरअसल, कुख्यात विकास के फरार होने के साथ ही पटना पुलिस के सिस्टम के अंदर संड़ाध का भी ताबड़तोड खुलासा हो रहा है। बेउर जेल में उम्रक़ैद की सज़ा भुगत रहा विकास सिंह को दिल्ली तीसहजारी कोर्ट में पेश करने खातिर पुलिस लाइन से दारोग़ा अखिलेश सिंह, सिपाही सुशील कुमार, एजाज अहमद, राजेश्वर कुंवर, विनोद कुमार और सौरभ प्रियदर्शी को जिम्मेदारी दी गई थी। लेकिन इसमें में भी जोरदार घालमेल हुआ और सौरभ प्रियदर्शी नामक सिपाही ट्रेन में तो 5 दिसम्बर को पटना जंक्शन पर सवार हुआ पर ट्रेन खुलने ही वाली थी की वो …. सुनिए  उसी की जुबानी उसकी करतुत की पोल खोल कहानी …

पटना Live के खुलासे के बाद पटना पुलिस महकमे में खलबली मच गई थी। सभी आरोपी पुलिसकर्मियो के खिलाफ़ बेउर थाने में केस भी दर्ज करा दिया गया है। इसके पहले विकास सिंह की फरारी मामले में इन सभी आरोपी पुलिसकर्मियो को निलंबित के इनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई चलाने का निर्देश एसएसपी ने दिया था।जिन पुलिसकर्मियो को गिरफ्तार किया गया है उनमें दारोग़ा अखिलेश सिंह, सिपाही सुशील कुमार, एजाज अहमद, राजेश्वर कुंवर, विनोद और सौरव प्रियदर्शी शामिल हैं। वही, पटना एसएसपी के निर्देश पर इस मामले की जांच पटना पुलिस लाइन के डीएसपी कर रहे हैं।

 

Comments are closed.