बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News(वीडियो) पटना जिले में सोन के सोने पर कब्जे ख़ातिर भिड़े गिरोहों के खूंरेजी से दहला इलाका 5 की हत्या, 9 घायल

बिहार सरकार द्वारा बालू खनन पर लगा रखी है रोक को धता बताते हुए पूरी तरह बेकाबू बालू माफिया और अपराधियों ने वर्चस्व की जंग में 5 लोगो की हत्या, सैकड़ों राउंड फायरिंग से दहला इलाका, सकते में पटना पुलिस खोखे बटोरने में ही लगे घंटो,इस खुनी जंग की शुरुआत बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात 1बजे के आसपास हुई

418

पटना Live डेस्क। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का दावा है कि सूबे में लॉ एंड आर्डर की कोई समस्या ही है। लेकिन सूबे में अपराधियों का तांडव अपने चरम पर है। सुदूर जिलो की क्या बात की जाए जब बेलगाम बेख़ौफ़ अपराधियों ने सरकार की नाक के नीचे पटना जिले में ही अवैध बालू खनन के वर्चस्व को लेकर गरुवार के सुबह सबेरे अपराधियों के गिरोह में खूनी भिड़ंत हो गई।

                 इस खूंरेजी में घंटों तक अन्धाधुन्ध फायरिंग से पूरा इलाका दहल उठा और जबतक लोग बाग कुछ समझ पाते 4 लोगो की गोली मार कर हत्या कर दी गई। इस घटना के बाद इलाके में कोहराम मचा हुआ है। घटना की जानकारी मिलने के घंटो बीत जाने के बाद भी स्थानिए थाना पुलिस घटनास्थल पर जाने की हिम्मत नही जुटा पाई। वही स्थानिए लोगो ने बताया कि लगभग 6 घंटे बाद भारी दल बल के साथ पुलिस दल पहुचने की हिम्मत जुटा पाया तब तक शवो के साथ खून की होली खेल अपराधियों का गिरोह फरार हो चुका है। वही जंग में इतनी गोलियों चली की घटना के घंटों बाद पहुची पटना पुलिस को घंटों गोलियों के खोखे बटोरने में लगे। अबतक मिली जानकारी के अनुसार 150 विभिन्न बोर खोखे पुलिस ने बरामद किए है। 

                          उल्लेखनीय है कि बिहार सरकार द्वारा बालू खनन पर रोक लगाए जाने के बावजूद सोन के सोना यानी सोन नदी से बालू का अवैध खनन बदस्तुर जारी हैं। अवैध धंधे में अपनी हिस्सेदारी ख़ातिर बालू माफिया और अपराधियों के गिरोहों के बीच लगातार खूंरेजी होती रही है। इसी क्रम में गुरुवार को पटना पुलिस के तमाम दावों के उलट जिले के सोन नदी से सटे इलाके अमनाबाद और कटेसर में अवैध बालू खनन पर कब्जे ख़ातिर खुनी जंग का आगाज हो गया और देखते ही देखते वर्चस्व को गैंगों के बीच भिंडत हुई और अन्धाधुन्ध फायरिंग से इलाका दहला उठा।

खुंजी जंग में बिहटा-मनेर सीमा के सोन नदी तटवर्तीय क्षेत्र अमनाबाद एवं कटेसर में अवैध बालू खनन के वर्चस्व को लेकर निपेन्द्र मुखिया,शत्रुध्न राय, व मनोहर राय व मुकेश सिंह के बीच सैकड़ों राउंड फायरिंग होने लगी। इसमें चार लोगों की मौत हो गयी है।वही स्थानिए लोगो और  सूत्रों का दावा है कि 5 लोगों की मौत हुई हैं।

कई थानों की पुलिस पहुंची, नहीं मिला शव

इधर, घटना की सूचना के बाद मौके पर कई थानों की पुलिस पहुंची। बिहार पुलिस मुख्यालय को सूचना मिली कि पांच लोगों की मौत की हुई है। इसके बाद भारी संख्या में पुलिस बल को भेजा गया।हालांकि घटनास्थल से पुलिस को एक भी शव नहीं मिला। कहा जा रहा है कि घटना में कई लोग घायल हैं जो छुपकर इलाज करा रहे हैं। फिलहाल इस मामले में पुलिस जांच कर रही है। लेकिन इस खूंरेजी ने पटना पुलिस के ऊपर सवालिया निशान लगा दिया है।

कुख्‍यात के मारे जाने की सूचना

जानकारी के अनुसार बिहटा के अमनाबाद में सोन नदी से बालू के अवैध खनन को लेकर दो गुटों के बीच रात एक बजे से फायरिंग की शुरुआत हुई। वर्चस्‍व की लड़ाई में दोनों ओर से ताबड़तोड़ अन्धाधुन्धन फायरिंग की जाने लगी। बेखौफ बालू माफिया तकरीबन 9-10 घण्टे रुक रुक कर एक दूसरे पर गोलियां बरसाते रहे। ग्रामीणों का कहना है कि पांच से सात लोगों की मौत गोलीबारी में हुई है। गोली लगने से कई लोग घायल भी हुए हैं। घायलों का इलाज आसपास के अस्‍पतालों में पुलिस से छिपकर कराया जा रहा है। हालांकि, बिहटा थाना पुलिस  ने कहा कि जब तक शव नहीं मिल जाता, तब तक पुष्टि कैसे की जा सकती है। नदी और बालू में जांच-पड़ताल की जा रही है।

बताया जाता है कि जहां यह घटना हुई है, वह काफी दुर्गम इलाका है। वहां दिन के उजाले में जाने से पुलिस  हिचकती है। यही कारण है कि रात एक बजे से हो रही गोलीबारी की घटना के बावजूद पुलिस गुरुवार सुबह पहुंची। घटनास्‍थल पर खून के धब्‍बे मिले हैं। गोलियों का डब्‍बा भी मिला है। ग्रामीणों का कहना है कि यहां बालू मा‍फिया की वजह से दहशत का माहौल रहता है। कोई कुछ कहने की हिम्‍मत नहीं जुटा पाता।

 बिहटा पुलिस कर रही है जांच- एसएसपी पटना

घटना के बारे में पटना के एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने कहा है- पुलिस मौके पर पहुंची है।।पुलिस ने अभी तक कोई शव बरामद नहीं किया है। स्थानीय लोग और नाविकों ने अभी तक किसी की मौत के बारे में नहीं बताया है, उन्होंने कहा कि बिहटा थानेदार को मौके पर भेजा गया है। छानबीन पूरी होने के बाद ही यह पता चलेगा कि घटना हुई है या नहीं।

Fact Finding (eXclusive) *बालू माफ़िया कर रहा था महाभारत* की तैयारी इधर खाकीवाले बालूलदे वाहनों से वसूल रहे थे फुटकर रंगदारी… *मोबाइल कैमरे से देखिए माफिया और मौत*…

सोन का सोना लूटने के खेल में हासिल *खाकी और खादी की  सरपरस्ती बेहिसाब पैसों की रेलमपेल और दुःसाहसी शूटरों के हाथों में देसी विदेशी ऑटोमैटिक असलहों खेप …. यही है वो खेल जो बालू माफ़िया को बना चुका है पूरी तरह *बेलगाम और बेख़ौफ़* …… वो अत्याधुनिक हरबे हथियार लिए बुधवार की शाम से जमने लगे थे। लेकिन खाकी ….

शुक्रवार को आपको शाम देखिए …… *सोन के सोना के लुटेरे … अमरकंटक से अमनाबाद तक* …..

Comments are closed.