BiG Breaking (Exclusive वीडियो) अचानक रात में बेउर जेल की सुरक्षा में किया गया भारी इजाफा, हर बैरक की हुई तलाशी,BMP और SWAT के 80 जवानो की तैनाती

305

शशि यादव, ब्यूरो कोर्डिनेटर, पटना

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना स्थित आदर्श केंद्रीय कारा बेउर से एक बड़ी खबर आ रही है। रात में अचानक बेउर जेल की सुरक्षा में भारी इज़ाफ़ा कर दिया गया। मिल रही जानकारी के अनुसार बीएमपी (Bihar Military Police) के और SWAT के जवानों को बड़ी संख्या में तैनात किया गया है। दरअसल, बेउर जेल ब्रेक की साज़िश रचे जाने का इनपुट मिलने के बाद पुलिस महकमें हड़कंप मच गया।
आननफानन में मिले इनपुट के आधार पर सिटी एसपी, एएसपी, डीएसपी समेत 6 थानों की पुलिस बेउर जेल पहुच गयी। फिर जेल के तमाम बैरकों और वार्डो के अलावे दीवारों के आसपास और कैम्पस में बेहद बारीकी से सघन तलाशी अभियान चलाया।  पर कोई संदिग्ध वस्तु नही मिला, तब भी ऐहतियातन बीएमपी और स्वाट के 80 जवानों को जेल की सुरक्षा में अगले आदेश तक तैनात कर दिया गया है।सूत्रों के जरिए पुलिस को बेउर जेल से कुछ कैदियों ने फरार होने की योजना बना रखी है। उल्लेखनीय है कि हार्डकोर नक्सलियों समेत आतंकी भी बेउर जेल में बंद है। बेउर जेल में उमर सिद्दीकी, अजहरुद्दीन, इम्तियाज अंसारी, अहमद हुसैन, फखरुद्दीन अहमद, फिरोज आलम, नोमान अंसारी, इफ्तेखार आलम, हैदर अली और मुजीबुल्लाह जैसे आतंकी सहित जहानाबाद जेल ब्रेक कांड का मुख्य आरोपी नक्सली अजय कानू, विधान पार्षद रीतलाल यादव के अलावे तमाम कुख्यात अंडर ट्रायल बन्द है।

वही जेल सूत्रों का दावा है की मिले इनपुट में जेल ब्रेक की कोशिश नक्सलियों या फिर कुख्यात ने रची है। हालांकि जेल अधिकारियों का कहना है कि बेउर जेल में सुरक्षा के सबसे सख्त इंतजाम हैं। कक्ष के अंदर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिससे राउंड ओ क्लॉक आतंकियों पर नजर रखी जाती  है। उच्च सुरक्षा कक्ष के बाहर अत्याधुनिक असलहे से लैस सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। आतंकियों और हार्डकोर नक्सलियों के वार्ड को सीसीटीवी से कवर रखा गया है। जेल की सुरक्षा-व्यवस्था फोर टीयर में है।

Loading...