बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News-राजधानी के जक्कनपुर थाने में तैनात सिपाही निकला कोरोना पॉजिटिव,मचा हड़कंप

मसौढ़ी के खरजामा गाँव के रहने वाले हैं कोरोना संक्रमित जवान।जवान के कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट से जक्कनपुर थाना में मचा हडकंप।थाने का पेट्रोलिंग वाहन चलाता है जवान

1,210

- Advertisement -

पटना Live डेस्क।बिहार में बढ़ते कोरोना के कहर का प्रभावलगातार बढ़ता ही जा रहा है हालाँकि कोरोना से संक्रमित मरीजो के स्वस्थ होने की तादाद में भी तेजी है। अब बिहार पुलिस के होमगार्ड कोरोना पॉजिटिव पाया गया जो पटना के जक्कनपुर थाना में तैनात थे। होमगार्ड जवान को पटना एम्स में शुक्रवार को कोरोना पॉजिटिव बताया गया है जिससे जक्कनपुर थाना में थानेदार से लेकर सभी पुलिस कर्मियों में हडकम्प मच गया।

इस खबर से अब जक्कनपुर थाना परिसर का भी सैनीटाईजेशन कराना पड़ेगा।वही।जक्कनपुर थाना में पुलिस अधिकारी इस बात की जानकारी एकत्रित करने में लग गये हैं जिससे पता चले की हाल में होमगार्ड जवान के सम्पर्क में कौन कौन लोग आये थे।उनके साथ ड्यूटी बजाने वाले होमगार्ड सिपाहियों को भी कोरोना जांच से गुजरनापड़ेगा। होमगार्ड जवान की ड्यूटी बतौर ड्राइवर लगाई जाती रही है। अब यह पता लगाना जरुरी हो गया है की ड्यूटी के दौरान उनके सम्पर्क में कौन कौन पुलिसकर्मी व अन्य लोग आये हैं।

- Advertisement -

पटना एम्स में गुरुवार को ही होमगार्ड जवान को इलाज के लिए लाया गया था। जिसकी कोरोना जांच रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटिव बताया गया है। कोरोना संक्रमित होमगार्ड जवान पटना के ही मसौढ़ी के खरजमा गाँव के रहने वाले हैं।

थाने में ड्राइवर की भूमिका

जक्कनपुर थाना का ड्राइवर मसौढ़ी का रहने वाला है। वह पटना एम्स में भर्ती है। 15 दिन पहले छुट्टी लेकर गांव आया था। तबीयत बिगड़ने पर वह अपनी जांच कराने बुधवार को एम्स गया था।पॉजिटिव पाया गया होमगार्ड का एक जवान मसौढ़ी प्रखंड की रेवां पंचायत का मूल निवासी है।

जक्कनपुर थानाध्यक्ष मुकेश कुमार वर्मा ने बताया कि वह 15 दिनों से छुट्टी पर था। ग्रामीणों का कहना है कि वह गांव में र्बोंरग करा रहा था। सामान लेने मसौढ़ी बाजार भी गया था। कैलूचक मुहल्ले में उसने अपना मकान बनाया है। जहां उसकी पत्नी व दो बेटे एवं बहू रहती है। पांच दिन पहले उसकी तबीयत खराब हुई थी। उस समय ग्रामीण चिकित्सक से दवा ली थी। तबीयत नहीं सुधरी तो वह पहले मसौढ़ी स्थित घर आया और यहां से धनरूआ के कुकुरबारा में निजी क्लिनिक में इलाज कराया। फिर मसौढ़ी स्थित एक निजी नर्सिंग होम में इलाज कराया।

- Advertisement -

Comments are closed.