बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive-अपराध नियंत्रण में फेल पटना पुलिस का नया खेल-सरेआम 3 लाख 41 हजार की लूट को 24 घंटे तक छुपाएं रखने में फर्स्ट डिवीजन से पास

लेकिन Patna Live News Network की खोजी पत्रकारिता ने कर दिया घटना के महज आधे घंटे बाद ही कर दिया था BREAK ...लेकिन फिर भी थानेदार  शनिवार की वारदात पर इतवार तक कुंडली मारे रहे और पीड़ित को FIR संडे को दिया साथ ही सरकारी फ़ोन रिसीव न करना तो राजधानी में थानाध्यक्षों का शगल बन गया

335

पटना Live डेस्क। जैसा की पटना Live ने वायदा किया था हम हाजिर है। राजधानी में सरकारी बैंक के दरवाज़े पर से कल यानी शनिवार 30 जुलाई को दिन के 3 बजकर 10 मिनट पर 3 लाख 41 हजार कैश लूट की दुःसाहसिक वारदात के हर सच को मय सुबूत आपसे साझा करने को। सिर्फ और सिर्फ पटना Live ने ही इस वारदात पाठकों से साझा किया था। हमने पाठको को बताया था कि ……

एक वक्त था जब पटना पुलिस की हनक हुआ करती थी। खाकी के खौफ़ से अपराधी दूसरे शहरों में पनाह लेने को मजबूर रहा करते थे। लेकिन बीतते वक्त के साथ धीरे-धीरे यह हनक समाप्त होने लगी और अपराधियों पर से पटना पुलिस का खौफ़ गुजरे जमाने की बात हो गई। इधर, महज दावो और बयानों में राजधानी पटना सुरक्षित रह गई। पूरी तरह से बेख़ौफ़ व बेलगाम अपराधी राजधानी में लगातार आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे। बढ़ते अपराध के बीच राजधानीवासी एक बार फिर डरे सहमे नज़र आने लगे है। वही,दूसरी तरफ पुलिस महज बयानबाज़ी में अपराध पर लगाम लगाने में व्यस्त है। पूरी जानकारी ख़ातिर नीचे दिए लिंक पर क्लिक करे …

Super eXclusive-पटना में दिनदहाड़े बेख़ौफ़ अपराधियों ने थप्पड़ मारकर लुटे लाखो रुपए कैश, सच जानकर आप रह जायेंगे दंग!

कब,कहाँ और कैसे 

राजधानी पटना में बेख़ौफ़ अपराधियों ने कोहराम मचा रखा और पटना पुलिस अपराध नियंत्रण में लगातार असफल हो रही हैं। हालात ये हैं कि वारदात के बाद थानों में FIR त आम आदमी को नाको चने चबाने पड़ रहे हैं। दरअसल, ये नई तकनीक बन गई है थानो में अपराध कम दिखाने का। इसी क्रम में शनिवार यानी दिनांक 30 जुलाई 2022 को कंकड़बाग थाने के पीछे स्थित एस.आर.सर्विस (पेट्रोल पम्प) के निकट चिकित्सीय जाँच केन्द्र वियोम हेल्थकेयर प्रा.लि. स्थित संस्थान के अकाउंटेंट अभिषेक आनंद सिंह पिता अजय कुमार सिंह संस्थान का नकद पैसा जमा कराने पत्रकार नगर थाना अंतर्गत स्थित HDFC (एचडीएफसी) बैंक के शाखा में लगभग दोपहर 2 बजकर 15 मिनट पर पहुंचे। वह रकम जमा करने के उपरान्त लगभग 3 बजकर 10 मिनट पर शेष रकम जो 3,41,000.00 (तीन लाख इकतालीस हजार रुपए )भारतीय स्टेट बैंक के डॉक्टर्स कॉलोनी शाखा में जमा कराने जा रहे थे।

लेकिन बैंक से कुछ दूरी पर ही काले पल्सर बाइक पर सवार दो अज्ञात लुटेरो ने अभिषेक को पीछे से थप्पड़ मार कर जोर से धक्का दिया और रुपए से भरे बैग को छिनकर बहुत ही तेजी से भाग गए। अचानक हुए इस कांड से अभिषेक आनंद सिंह बाइक की तेज गति और घबराहट के कारण बाइक का नम्बर नहीं नोट कर पाए। घटना की जानकारी मिलते ही बाद संस्थान के मालिक कुणाल द्वारा सदर डीएसपी को जानकारी दी तदुपरान्त घटना की प्राथमिकी पत्रकार नगर थाना में तत्काल दर्ज करा दी गई।

पटना पुलिस अपराध छुपाने रही व्यस्त

दिनदहाड़े सैकड़ों लोगों के सामने बेहद व्यस्त सड़क पर अंजाम पाई इस वारदात ने पत्रकार नगर थाना पुलिस के थाना क्षेत्र में सघन पेट्रोलिंग के दावों की धज़्ज़िया उड़ा कर रख दी। वही बैंको के आसपास पुलिस के वरीय अधिकारियों के विशेष निगेहबानी के निर्देशों की अवहेलना का सच भी उजागार कर दिया। फिर क्या था पत्रकार नगर थाना द्वारा अपराधियों को गिरफ्तार करने की बजाए मीडिया से खबर छुपाने की कवायद शुरू कर दी गई। वैसे भी पटना के थानेदारों द्वारा सरकारी नंबर न उठाने का शगल नया नही हैं।

हद तो ये की घटना को छुपाने की कवायद के तहत वियोम हेल्थकेयर प्रा.लि. के मालिक द्वारा लिखित आवेदन देने के बाद भी थानेदार द्वारा शनिवार की वारदात पर इतवार तक कुंडली मारे रहा गया और FIR की कॉपी संडे को दिया गया। समझ रहे न क्यो?

Comments are closed.